Covid-19 Update

58,777
मामले (हिमाचल)
57,347
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,122,986
मामले (भारत)
114,822,832
मामले (दुनिया)

CM के संकेतः बंद हो सकती है Home Guard की ब्रेक प्रथा

CM के संकेतः  बंद हो सकती है Home Guard की ब्रेक प्रथा

- Advertisement -

Home Guard : शिमला। हिमाचल के 7 हजार से अधिक गृह रक्षकों के लिए जल्द स्थाई नीति बन सकती है। सीएम वीरभद्र सिंह ने गृह रक्षकों के लिए स्थाई नीति बनाने और ब्रेक की प्रथा बंद करने के साथ-साथ सभी गृह रक्षकों को तैनाती देने के संकेत दिए हैं। राज्य होमगार्ड वेल्फेयर एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल को सीएम ने यह आश्वासन दिया है। हिमाचल राज्य होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल प्रधान बिवेंद्र ठाकुर, उपाध्यक्ष जगदीश ठाकुर व राज्य सलाहकार प्रकाश नेगी की अध्यक्षता में आज सीएम से मिला।

सीएम ने एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल को दिया  आश्वासन

इस प्रतिनिधिमंडल ने सीएम के समक्ष गृहरक्षकों के लिए स्थाई नीति बनाने, ब्रेक प्रथा बंद करने व सभी गृह रक्षकों को बिना ब्रेक के ड्यूटी देने समेत अस्पतालों में महिला गृह रक्षकों की तैनाती करने का मामला उठाया। सीएम ने गृह रक्षको की मांगों को ध्यान से सुना और आश्वासन दिया कि उनकी मांगों को जल्द पूरा कर दिया जाएगा। सीएम ने कहा कि गृह रक्षक जवानों की ब्रेक प्रथा सिस्टम को बंद किया जाएगा। उन्होंने अस्पतालों में महिला गृह रक्षकों की तैनाती करने को भी कहा है।  गौर हो कि राज्य में मौजूदा समय में 7070 गृह रक्षक जवान हैं। इनमें 650 महिला गृह रक्षक भी शामिल हैं। गृह रक्षक विभाग में ब्रेक प्रथा होने के कारण इस समय करीब 6000 गृह रक्षक ही ड्यूटी दे रहे हैं। जबकि 1000 से अधिक गृह रक्षक पिछले कई माह से ब्रेक पर हैं।

200  महिला गृह रक्षकों को लंबे समय से दिया ब्रेक

उधर, महिला गृह रक्षकों में अभी करीब 400 ही तैनात हैं। जबकि 200 से अधिक महिला गृह रक्षकों को काफी लंबे समय से ब्रेक दिया गया है। ऐसे में ड्यूटी से नदारद इन महिला गृह रक्षकों को वेतन भी नहीं मिल रहा है। एसोसिएशन ने सीएम से महिला गृह रक्षकों को अस्पताल में ड्यूटी लगाने की मांग की है। उधर, राज्य होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान बिवेंद्र ठाकुर ने कहा कि सीएम वीरभद्र सिंह ने गृह रक्षकों के लिए स्थाई नीति बनाने का आश्वासन दिया है।

CM का ऐलानः PTA शिक्षकों की एक-मुश्त छूट की मांग पर होगा विचार

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है