Covid-19 Update

58,777
मामले (हिमाचल)
57,347
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,122,986
मामले (भारत)
114,822,832
मामले (दुनिया)

शिमला : विपत्ति और दुख का सबसे बड़ा उदाहरण है यह परिवार, रुला देगी दासतां

शिमला : विपत्ति और दुख का सबसे बड़ा उदाहरण है यह परिवार, रुला देगी दासतां

- Advertisement -

शिमला। दुनिया भर में आपने बहुत से लोगों को दुखी देखा होगा, लेकिन आज जिस परिवार के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं उसकी दासतां आपको रुला देगी।प्रदेश की राजधानी शिमला के पास एक गांव है धमेची जहां पर रहने वाले इस परिवार को विपत्ति और दुख का सबसे बड़ा उदाहरण माना जा सकता है। दरअसल इस यहां पर रहने वाले एक दंपत्ति ने 25 साल पहले एक मूक-बधिर महिला को एडॉप्ट (गोद) किया था।

चूंकि महिला दिव्यांग थी तो इन पति पत्नी ने उसे अपने पास रखा और उसकी देखभाल की। उन्होंने बताया कि जब हमने उसे शरण दी थी तब उस महिला के साथ उसका एक बेटा भी था, जिसकी 19 साल की उम्र में मौत हो गई। जिसके बाद से ये परिवार दर दर की ठोकरें खा रहा है। इस दंपत्ति का कहना है कि उनके पास रहने तक को घर नहीं है इसलिए वे सरकार से मदद की अपील कर रहे हैं। इस बुजुर्ग दंपत्ति ने बताया कि हम गरीब लोग हैं इसलिए हम चाहते हैं कि सरकार हमारी मदद करें।

बता दें कि इस परिवार की बदहाली का आलम कुछ ऐसा है कि इस परिवार के लोगों के पास खाना छत तो दूर तन ढंकने के लिए कपड़े के भी लाले पड़े हैं। हालांकि सामाजिक न्यायिक एवं अधिकारिता मंत्री ने मामले को संज्ञान में लेते हुए कहा है कि पूरी जांच के बाद मामले की तस्वीर साफ होगी। हमारी सरकार लोगों की मदद के लिए हमेशा तत्पर है।

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है