Covid-19 Update

1,53,717
मामले (हिमाचल)
1,11,878
मरीज ठीक हुए
2185
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

पर्यटन नगरी मैक्लोडगंज के होटल वाले दोफाड़, जमकर लगाए आरोप

पर्यटन नगरी मैक्लोडगंज के होटल वाले दोफाड़, जमकर लगाए आरोप

- Advertisement -

मैक्लोडगंज। पर्यटन नगरी मैक्लोडगंज की होटल एसोसिएशन (Hotel Association of McLeodganj) दो फाड़ हो गई है। अभी तक कार्यरत रही एसोसिएशन पर आरोप है कि बीते तीन साल में जनरल हाउस तक नहीं बुलाया गया। इसके साथ ही रजिस्ट्रार कोआपरेटिव सोसायटी के पास किसी तरह का कोई रिकार्ड भी जमा नहीं करवाया गया। आज हुई बैठक में बेहद गर्मागर्मी के बीच जब सदस्यों ने अभी तक की एसोसिएशन पर आरोप लगाने शुरू किए तो ये सिलसिला बढ़ता चला गया, उसी के चलते एसोसिएशन दोफाड़ हो गई।


यह भी पढ़ें :-पवन कपूर होंगे यूएई के अगले भारतीय राजदूत, जल्द संभालेंगे कार्यभार

गवर्निंग बॉडी ने साफ किया जब तक एसोसिएशन के नए चुनाव नहीं हो जाते तब तक प्रशासन भी अन्य किसी सदस्य को कोई नई जिम्मेदारी भी न सौंपे और गुमराह न करे। वहीं, होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष अश्वनी बांबा ने कहा कि होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के गवर्निंग बॉडी सदस्यों की दो साल से मेंबरशिप फीस ही नहीं आई है। ऐसे में वह एसोसिएशन के सदस्य ही नहीं हैं। उनके द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं।


वहीं, गवर्निंग बॉडी के सदस्यों ने आरोप लगाया कि धर्मशाला नगर निगम पिछले दो साल से मैक्लोडगंज सहित अन्य क्षेत्रों में निर्माणाधीन व निर्मित व्यवसायिक भवनों के नक्शों को न तो पारित कर रहा है और न ही रिजेक्ट कर रहा है। ऐसे में बैंकों से लिए गए ऋण की आदायगी करना उद्यमियों के लिए मुश्किल हो गया है। यही कारण है कि क्षेत्र की कुछ इकाईयां बैंक द्वारा कुड़क या नीलाम की जा रही हैं।

मैक्लोडगंज के होटल व्यवसायी कुलदीप पटियाल ने कहा कि होटलों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। आधारभूत ढांचे के आभाव में बिज़नेस में 40 प्रतिशत गिरावट आई है। धर्मशाला में आयोजित होने वाली इन्वेस्टर मीट का तो एसोसिएशन स्वागत करती है, लेकिन धर्मशाला में पांच सितारा होटल के प्रस्तावों का विरोध करती है। इन्वेस्टर मीट में निवेशकों से धर्मशाला नगर निगम क्षेत्र में आधारभूत ढांचा विकसित करने पर प्रस्ताव आमंत्रित करने चाहिए। जिसमें रोप-वे एंड रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम , ईको टूरिज्म व अन्य योजनओं को शामिल किया जाना चाहिए।

इन्वेस्टर मीट में आमंत्रित किए जा रहे उद्यमियों को तो रियायतें देने की घोषणाएं की जा रही हैं जबकि जिन स्थानीय उधमियों ने कांगड़ा घाटी में पर्यटन व्यवसाय को आज सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है उन्हें नज़रअंदाज किया जा रहा है। सरकार से मांग है कि स्थानीय उधमियों को भी पर्यटन उद्योग में कुछ रियातें दें जिससे वह भी लाभांवित हो सकें। बैठक में गवर्निंग बॉडी के सदस्य रामस्वरूप शर्मा, कुलदीप पटियाल, सुभाष नेहरिया, सुरिंदर शर्मा, संजीव गांधी, राहुल धीमान, विशाल नेहरिया, राजिंदर नेहरिया, नवनीत (बॉबी) ठाकुर, अशोक पठानिया अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है