Covid-19 Update

59,065
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,210,799
मामले (भारत)
117,078,869
मामले (दुनिया)

चीन ने पहली मर्तबा मानी गलवान घाटी की खूनी हिंसा में कितने मरे थे उसके सैनिक,भारत पर आरोप

चीनी सेना के अखबार पीएलए ने लिखा भारतीय सेना ने जानबूझकर उकसाया

चीन ने पहली मर्तबा मानी गलवान घाटी की खूनी हिंसा में कितने मरे थे उसके सैनिक,भारत पर आरोप

- Advertisement -

गलवान घाटी में भारत के सैनिकों पर कंटीले रॉड से हमला करने वाली चीनी सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने पहली मर्तबा इस खूनी हिंसा में मारे गए अपने सैनिकों की संख्या बताई है। चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (Chinese People’s Liberation Army)ने कहा है कि इस संघर्ष में उसके चार सैनिक मारे गए थे,एक बुरी तरह घायल हुआ था। चीनी सेना ने मारे गए सैनिकों के नाम भी बताए हैं। साथ ही भारतीय सेना पर पहले हुए समझौते की शर्तों के उल्लघंन का आरोप लगाया है। चीनी सेना के अखबार पीएलए ने कहा है कि भारतीय सेना ने जानबूझकर उकसाया और सीमा पर यथास्थिति को बदलने की कोशिश की। भारतीय सैनिकों ने बातचीत करने गए चीनी सैनिकों पर हमला भी किया। एक चीनी सैनिक ने अपनी डायरी में लिखा है हमारे शत्रु भारतीय सैनिक संख्या में बहुत ज्यादा थे,लेकिन हम घबराए नहीं, उनके पत्थर से हमले के बीच हमने उन्हें पीछे धकेल दिया।

यह भी पढ़ें: शौक के आगे कुछ नहीं, इस शख्स ने घर के ऊपर बना डाला हवाई जहाज

चीनी सेना के अखबार पीएलए (Chinese Army newspaper PLA) में बताया गया है कि चीनी सेना ने भारतीय जवानों के हाथों मारे गए सैनिकों को श्रद्वांजलि दी और एक वीडियो जारी किया। इस दौरान चारों सैनिकों के नाम भी बताए गए,जोकि चेन होंगजून,वांग झुओरान,शियाओ सियुआन व चेन शिआंगरोंग हैं। इनमें एक बटालियन कामंडर व तीन सैनिक थे। जो पांचवा घायल हुआ था,वह चीनी सेना का रेजिमेंटल कमांडर था। चीन का आरोप है कि भारतीय सेना ने गलत तरीके से गलवान घाटी की वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार किया। चीनी सेना के अखबार पीएलए के मुताबिक सेंट्रल मिलिट्री कमीशन ने कि फाबाओ को हीरो के अवार्ड से सम्मानित किया है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है