×

Shimla कैसे बने Best, सुझाव दो और 5 हजार इनाम पाओ

Shimla कैसे बने Best, सुझाव दो और 5 हजार इनाम पाओ

- Advertisement -

शिमला। स्मार्ट सिटी के प्रस्ताव को शिमला के लोगों के बहुमूल्य सुझावों के उपरांत ही अंतिम रूप दिया जा सकता है। प्रत्येक नागरिक को शिमला शहर को अगले 50 वर्षों के लिए श्रेष्ठ शहर बनाने में अपने cm-smlसुझाव साझे करने चाहिए। उत्तम सुझाव प्रस्तुत करने वाले पहले तीन नागरिकों को 5-5 हजार रुपये के पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।  सुझाव वेबपोर्टल पर ऑनलाइन भी प्रस्तुत किए जा सकते हैं। यह बात सीएम वीरभद्र सिंह ने आज शिमला को स्मार्ट सिटी में बदलने के लिए जन सहभागिता चरण की शुरूआत के अवसर पर कही। उन्होंने शहर के चहुंमुखी विकास के लिए सुझाव प्रस्तुत करने का निर्धारित फार्म भरकर इसका शुभारंभ किया। इस अवसर पर अपने सुझाव में सीएम ने कहा कि पहाड़ी स्थल को सुंदर बनाने के लिए शिमला शहर के भवनों की सभी छतों की रंगाई का कार्य नियमित रूप से किया जाना चाहिए।


  • सीएम बोले, सुझाव वेबपोर्टल पर ऑनलाइन भी दिए जा सकते हैं
  • शहर के भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों के दबाव को कम किया जाना जरूरीउन्होंने कहा कि नशाखोरी जैसी सामाजिक बुराइयों से निपटने के लिए व्यवस्था विकसित की जानी चाहिए, ताकि युवाओं की ऊर्जा का सदुपयोग सृजनात्मक कार्यों में किया जा सके। सीएम ने शिमला को स्मार्ट सिटी बनाने की दिशा में बहुमूल्य सुझाव देने के लिए आम जनमानस से अपील की है, ताकि राजधानी न केवल राज्य में बल्कि पूरे देश में एक आदर्श शहर बन सके। उन्होंने कहा कि किसी भी समाज के निर्माण के लिए आम आदमी के सुझाव महत्वपूर्ण हैं और उनके विचारों को क्षेत्र के भावी विकास के लिए शामिल किया जाना चाहिए।  उन्होंने योजनाकारों, चिकित्सकों, अभियन्ताओं तथा विशेषज्ञों को स्वतंत्रतापूर्वक अपनी राय व्यक्त करने को कहा ताकि शिमला के बेहतर विकास के लिए वृहद सुझाव प्राप्त किए जा सकें। उन्होंने कहा कि शिमला तथा इसके आस-पास के क्षेत्रों के हरित स्थलों को सुन्दर पार्कों में विकसित किया जाना चाहिए, ताकि शहर के चारों ओर हरित आवरण को बढ़ाया जा सके। उन्होंने कहा कि शहर के धरोहर भवनों की प्रतिष्ठा एवं सौंदर्य में वृद्धि के लिए इनका पुनःसुनियोजित ढंग से संरक्षण किया जाना चाहिए, ताकि ये भवन पर्यटकों के लिए मुख्य आकर्षण बनें। उन्होंने कहा कि शिमला वासियों के सक्रिय सहयोग से शहर के भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों के दबाव को कम किया जाना चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है