Expand

प्राकृतिक तरीकों से निपटें डिप्रेशन से

how to overcome depression

प्राकृतिक तरीकों से निपटें डिप्रेशन से

- Advertisement -

कोई व्यक्ति बहुत उदास दिखता है और लंबे समय तक थका हुआ या सुस्त नज़र आता है? बहुत खामोश हो गया है, रोज़ाना के काम में उसकी दिलचस्पी ख़त्म हो गई है, ठीक से नहीं खाता या काम से उसका ध्यान उचट गया है तो तय है कि वह अवसाद से पीड़ित है। अवसाद जीवन के किसी पड़ाव में कभी भी किसी को भी अपनी चपेट में ले सकता है। अवसाद एक सामान्य मनोरोग है जिसके कुछ निश्चित लक्षण होते हैं जो व्यक्ति के विचारों, भावनाओं, व्यवहार, संबंध, कार्य प्रदर्शन को प्रभावित करते हैं पर अत्यंत गंभीर मामलों में मृत्यु तक भी हो सकती है।

  • किसी बुरी घटना या परिस्थिति पर उदास होना स्वाभाविक ही है, लेकिन अगर यह भावना लंबे समय तक बनी रहे (दो सप्ताह से ज़्यादा) या बार बार आती रहे और सामान्य जीवन और स्वास्थ्य को बाधित करे तो ये चिकित्सा परिभाषा में अवसाद की श्रेणी में आ जाता है।
  • आपको डिप्रेशन से बचना है तो अपनी लाइफस्टाइल व डेली रूटीन पर गौर करना जरूरी है, इसकी दवाएं हैं लेकिन अगर प्राकृतिक तरीकों से इसका निपटारा किया जाए तो बेहतर है।

  • पर्याप्त नींद लें। अवसाद की समस्या तभी होती है जब या तो आप बहुत अधिक सोते हैं या बिल्कुल नहीं सो पाते हैं। इस समस्या से बचने के लिए सोने का एक समय निर्धारित कर लें और हर रोज उसी समय पर सोएं। अच्छी नींद के लिए आप चाहें तो सोने से पहले नहा सकते हैं या हर्बल टी या ग्रीन टी भी ले सकते हैं।
  • जब आप अवसाद ग्रस्त होते हैं तो खुद को कुछ नया करने के लिए प्रेरित करना चाहिए। म्यूजियम जाएं या अपनी किसी मनपसंद लेखक की किताब पार्क में बैठकर पढ़ें। आप चाहें तो अपनी मनपसंद हॉबी क्लास भी ज्वाइन कर सकते हैं जैसे डांस, कुकिंग, गायन, पेंटिंग आदि। इससे आपका मन भी लगा रहेगा और अवसाद की समस्या से भी बचेंगे।
  • ऐसे समय में आपको और भी ज्यादा मजबूत बनना चाहिए और लोगों से घुल-मिल कर रहना चाहिए। खुद को सामाजिक बनाएं। ऐसे में आपको नकारात्मक विचारों से अपना ध्यान हटाने में मदद मिलेगी।

  • व्यायाम अवसाद को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है। इससे न केवल एक अच्छी सेहत मिलती है बल्कि शरीर में एक सकारात्मक उर्जा का संचार भी होता है। व्यायाम करने से शरीर में सेरोटोनिन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स का स्राव होता है जिससे दिमाग स्थिर होता है और अवसाद देने वाले बुरे विचार दूर रहते हैं।
  • संतुलित आहार लें फल, सब्जी, फलियां और कार्बोहाइड्रेट आदि का संतुलित आहार लेने से मन खुश रहता है।
  • अच्छे दोस्त बनाएं अच्छे दोस्त आपको आवश्यक सहानुभूति प्रदान करते हैं और साथ ही साथ अवसाद के समय आपको सही निजी सलाह भी देते हैं। इसके अतिरिक्त, जरूरत के समय एक अच्छा श्रोता साथ होना नकारात्मकता और संदेह को दूर करने में सहायक है।
  • नकारात्मक लोगों से दूर रहें कोई भी ऐसे लोगों के बीच में रहना पसंद नहीं करता जो कि लगातार दूसरों को नीचे गिराने में लगे रहते हैं। ऐसे लोगों से दूर रहने से मन को शांति और विवेक प्रदान करने में आपको मदद मिलेगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है