Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

तृतीय श्रेणी पर नियमितीकरण में गिनी जाएगी चतुर्थ श्रेणी से पूर्व दी गई Class III दिहाड़ीदार सेवा

हाईकोर्ट ने एक मामले की सुनवाई के दौरान दी व्यवस्था

तृतीय श्रेणी पर नियमितीकरण में गिनी जाएगी चतुर्थ श्रेणी से पूर्व दी गई Class III दिहाड़ीदार सेवा

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल हाईकोर्ट (High Court) ने एक मामले में यह व्यवस्था दी कि तृतीय श्रेणी (Class III) की दिहाड़ीदार सेवा चाहे वह चतुर्थ श्रेणी से पूर्व दी गई हो को तृतीय श्रेणी पर नियमितीकरण दिए जाने के लिए गिना जाएगा। चतुर्थ श्रेणी की सेवा का लाभ सेवा में नियमित बने रहने के लिए दिया जाए। अशोक कुमार द्वारा दायर याचिका को स्वीकार करते हुए न्यायाधीश विवेक सिंह ठाकुर ने स्पष्ट किया कि बेलदार से पूर्व 1 जनवरी 1984 से 30 जून 1987 तक सर्वेयर के पद पर दिहाड़ी के तौर पर दी गई सेवा को नियमितीकरण (Regularization) के लिए गिना जाए। याचिका में दिए तथ्यों के अनुसार प्रार्थी को 1 जनवरी 1984 को दिहाड़ीदार के तौर पर सर्वेयर के पद पर लगाया गया था। 1 जनवरी 1984 से 30 जून 1987 तक उससे सर्वेयर के मस्टरोल पर काम करवाया गया। मगर 1 जुलाई 1987 से 28 फरवरी 1988 तक उससे बेलदार के मस्टरोल पर कार्य करवाया गया। जबकि उसे 1 मार्च 1988 से 31 अक्टूबर 1989 तक फीटर का मस्टरोल दिया गया। इसके पश्चात वह सर्वेयर के मस्टरोल पर कार्य करता रहा।


यह भी पढ़ें: हाईकोर्ट ने लगाई फटकारः ट्रक यूनियन की गुंडा टैक्स वसूली को रोकने में असफल रहा BBN प्रशासन

उसके प्रतिवेदन पर निर्णय पारित करने के हाईकोर्ट के आदेशों के पश्चात उसकी फिटर की सेवा को 1 मार्च 1988 से सर्वेयर की सेवा के साथ गिनते हुए 1 जनवरी 1998 से बतौर सर्वेयर नियमित करने के आदेश पारित किए गए थे। मगर 1 जनवरी 1984 से 28 फरवरी 1988 तक दिहाड़ी पर दी सेवा को नियमितीकरण के लिए गिनने से मना कर दिया। 4 वर्षो की लंबी सेवा के नुकसान से बचने के लिए प्रार्थी ने पुनः हाईकोर्ट के समक्ष याचिका दाखिल की। प्रार्थी ने हाईकोर्ट से गुहार लगाई थी कि उसकी दिहाड़ीदार के तौर पर दी गई सेवा को अन्य कुछ दिहाड़ीदारों की तरह एक जनवरी 1984 से गिनते हुए सर्वेयर के पद पर नियमितीकरण दिया जाए। न्यायालय (Court) ने हाईकोर्ट के निर्णय के तहत हालांकि बेलदार के पद पर दी गई सेवा को सर्वेयर के पद पर नियमितीकरण के लिए आंकने से मना किया, मगर बेलदार से पूर्व दी गई सेवा को सर्वेयर के पद पर नियमितीकरण के लिए आंकने के आदेश पारित कर दिए। न्यायालय ने आदेश दिए कि दिहाड़ीदार के तौर पर बेलदार की सेवा का लाभ सेवा में नियमित बने रहने के लिए दिया जाए।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है