Covid-19 Update

56,802
मामले (हिमाचल)
55,071
मरीज ठीक हुए
951
मौत
10,541,760
मामले (भारत)
93,843,671
मामले (दुनिया)

गरजे Doctor : कौल से मांगा Resign, डीसी-SP Una पर हो कार्रवाई

गरजे Doctor : कौल से मांगा Resign, डीसी-SP Una पर हो कार्रवाई

- Advertisement -

चंबा। हिमाचल मेडिकल ऑफिसर्ज एसोसिएशन ने स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर के इस्तीफे की मांग के साथ ही डीसी व एसपी ऊना के खिलाफ कार्रवाई की मांग रखी है। एसोसिएशन का कहना है कि कौल सिंह जब विभाग चला ही नहीं सकते तो उन्हें पद पर बने रहने का भी अधिकार नहीं है। इसके साथ-साथ एसोसिएशन ने हेल्थ सचिव से भी इस्तीफा देने की बात कही है। आज चंबा में पत्रकारों से बातचीत करते हुए एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ जीवानंद चैहान ने कहा कि एक तरफ प्रदेश में डॉक्टर भय में नौकरी कर रहे हैं दूसरी तरफ स्वास्थ्य मंत्री कह रहे हैं कि छुटपुट घटनाएं होती रहती हैं, उन्होंने कहा कि अगर कौल सिंह को यह छुटपुट नजर आती हैं तो इसका मतलब यही है कि वह अपनी नाकामी छिपा रहे हैं।
डॉ जीवानंद का कहना है कि सरकार की हालत यह हो गई है कि अपनी नाकामी छिपाने के लिए डॉक्टरों को बदनाम किया जा रहा है। उन्होंने कहा इससे पहले विनीत चौधरी हेल्थ सचिव हुआ करते थे उनके वक्त में विभाग का हाल-बेहाल हुआ। अब सरकार जैनरिक दवाईयां लिखने को बोल रही है,जबकि चाहिए तो यह कि दवाओं के रेट सरकार कंट्रोल करे। उन्होंने कहा कि सरकार ने जो दवाएं जेनरिक के तौर पर शामिल की हैं उसके अब तक 100 सैंपल फेल हो चुके हैं। जबकि जब तक रिपोर्ट आती है तो इन दवाओं का स्टॉक ही खत्म हो चुका होता है। इसके साथ ही उन्होंने आयुर्वेद विभाग में लगाए गए ओएसडी भी हटाने की मांग की है।

शाहपुर में भी स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित

उधर, शाहपुर से मिले इनपुट के मुताबिक आज डॉक्टरों के सामूहिक अवकाश के चलते शाहपुर क्षेत्र में भी स्वास्थय सेवाएं प्रभावित रहीं। हिमाचल मेडिकल अफिसर्ज एसोसिएशन के राज्य प्रवक्ता डॉ सुशील शर्मा ने कहा है कि राज्य सरकार के रवैये के चलते डॉक्टरों को यह निर्णय लेना पड़ा है। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों की लम्बे समय से विभिन्न मांगे लटकी हुई है परन्तु सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है। डॉ सुशील ने रोष जताते हुए कहा कि प्रदेश भरमें असामाजिक तत्वों द्वारा डॉक्टरों पर हमले व दुर्व्यवहार करना आम बात हो गई है परन्तु सरकार इस सन्दर्भ में खामोशी धारण किए हुए है। उन्होंने कहा कि सरकार की अनदेखी की वजह से आज प्रदेश भर के डॉक्टर स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है