- Advertisement -

New Pension Scheme कर्मचारियों से भद्दा मजाक, 30 को Delhi रामलीला मैदान में होगी महारैली

0

- Advertisement -

नूरपुर। State Govt 15 May 2003 के बाद प्रदेश में कार्यरत Govt employees को Retirement के बाद नाममात्र Pension के नाम पर एक भद्दा मजाक कर रही है। State Govt बुढ़ापा Pension लोगों को मासिक दो हजार रुपये दे रही है, जबकि रिटायर्ड कर्मचारियों को दो हजार से भी कम Pension मिल रही है। यह बात हिमाचल प्रदेश New Pension Scheme कर्मचारी महासंघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉक्टर संजीव गुलेरीया ने कही।
उन्होंने कहा कि  विधायक और लोकसभा सदस्य शपथ लेने के बाद आजीवन Pension के हकदार बन जाते हैं, जबकि कर्मचारी 10 वर्ष से लेकर 35 वर्ष तक विभिन्न विभागों में सेवा करने के पश्चात भी पुरानी Pension Scheme के हकदार नहीं बनते। यह सब प्रदेश व केंद्र सरकार की गलत नीति का परिणाम है। New Pension Scheme कर्मचारी महासंघ सरकार के इस निर्णय का विरोध करता है। उन्होंने कहा कि 30 अप्रैल दिल्ली रामलीला मैदान में पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करवाने के लिए सारे भारतवर्ष से लाखों कर्मचारी महारैली करेंगे व मोदी सरकार से पुरानी Pension Scheme बहाल करवाने की मांग करेंगे। डॉक्टर संजीव गुलेरीया वरिष्ठ उपाध्यक्ष New Pension Scheme कर्मचारी महासंघ के प्रदेश में कार्यरत सभी कर्मचारियों से निवेदन किया है कि दिल्ली रामलीला मैदान में 30 अप्रैल सुबह 10 बजे पहुंच कर रैली को सफल बनाएं ।

आयुर्वेद विभाग में कार्यरत दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को जयराम सरकार से आस

नूरपुर। 19 वर्ष आयुर्वेद विभाग में सेवा उपरांत भी 200 दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी आज दिन तक नियमित नहीं हो पाए हैं। इस महंगाई के जमाने में कम वेतन में गुजारा बहुत कठिन है। प्रदेश अध्यक्ष दैनिक वेतन भोगी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ तरसेम कुमार ने जसूर में कहा कि आयुर्वेद विभाग में कार्यरत इन कर्मचारियों के लिए आज दिन तक आयुर्वेद विभाग ने कोई सार्थक प्रयास ही नहीं किया है, जिस के कारण इन को अपने बुढ़ापे की चिंता सताने लगी है। नियमित होने की आस पर दैनिक वेतन भोगी पद पर ही रिटायर्ड हो रहे हैं, जोकि निंदनीय है। हमें जयराम सरकार से उम्मीद है कि हमारे साथ शीघ्र ही न्याय किया जाएगा।

- Advertisement -

Leave A Reply