Covid-19 Update

59,014
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,190,651
मामले (भारत)
116,428,617
मामले (दुनिया)

HPCA Case; सुप्रीम कोर्ट में भिड़े Virbhadra-Anurag के वकील, Judge बोले, न बनाएं Political अखाड़ा

HPCA Case; सुप्रीम कोर्ट में भिड़े Virbhadra-Anurag के वकील, Judge बोले, न बनाएं Political अखाड़ा

- Advertisement -

HPCA Case lawyer clash: नई दिल्ली। HPCA से संबंधित मामले को लेकर Himachal  के Former CM Virbhadra Singh व BJP MP Anurag Thakur के वकीलों के बीच झड़प हो गई। झड़प से Supreme Court के Judge नाराज हो गए। उन्होंने तल्ख टिप्पणी कर दी। Supreme Court के जस्टिस एके सीकरी ने गंभीर टिप्पणी करते हुए दोनों ही वकीलों को कहा कि आप राजनीतिक दंगल के लिए Supreme Court को अखाड़ा नहीं बना सकते हैं। साथ ही जस्टिस सीकरी ने यह भी कहा कि विगत कुछ माह से कई मामलों में ऐसा ही देखने को मिल रहा है। इसके बाद मामले की सुनवाई 2 हफ्ते के लिए टाल दी गई। अब सुनवाई 3 मई को होगी।
बता दें कि यह मामला Anurag Thakur के ऊपर चल रहे भ्रष्टाचार के मामले बंद करने से जुड़ा है। अप्रैल, 2014 को विजिलेंस विभाग ने भारतीय दंड संहिता की धारा 406, 420, 201 और 120बी के तहत और भ्रष्टाचार उन्मुलन अधिनियम की धारा 13 के तहत एफआईआर दर्ज की थी। इस मामले में विजिलेंस विभाग ने Anurag Thakur, एचपीसीए के निदेशक समेत 13 लोगों को आरोपी बनाया गया है। ठाकुर और अन्य आरोपियों को कोर्ट ने बतौर आरोपी तलब किया था। उनके खिलाफ धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम की जमीन पर अतिक्रमण करने का आरोप है। आज मामले को लेकर सुनवाई हुई। प्रदेश की बीजेपी सरकार Anurag Thakur के खिलाफ Himachal Pradesh Cricket Association( HPCA ) केस को राजनीति से प्रेरित बता कर बंद करना चाहती है। इस पर Virbhadra Singh के वकील ने कड़ा एतराज जताया।
कोर्ट ने तथ्यों को देखते हुए मामला रद करने की इच्छा जताई, Virbhadra के Lawyer ने किया विरोध
Anurag Thakur के Lawyer ने कोर्ट को बताया कि इस मामले में खुद पिछली सरकार ने अपने अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाने की इजाजत नहीं दी, लेकिन राजनीतिक मकसद से Anurag Thakur के खिलाफ मुकदमा चलाया। इस पर कोर्ट ने तथ्यों को देखते हुए मामला रद करने की इच्छा जताई, लेकिन पूर्व सीएम Virbhadra Singh की तरफ से पेश वकील ने इसका विरोध किया। पूर्व सीएम Virbhadra Singh के वकील ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट केस रद करने का आदेश ना दे। प्रदेश सरकार चाहे तो निचली अदालत में CRPC के प्रावधान के तहत अर्ज़ी लगाए। इस पर कोर्ट ने पूछा कि तथ्य हमारे सामने हैं और प्रदेश सरकार भी केस वापस लेना चाहती है। ऐसे में सीधे केस रद करने का आदेश क्यों नहीं दिया जा सकता है। इस पर वीरभद्र के Lawyer अनूप जॉर्ज चौधरी ने कोर्ट में कहा कि Anurag Thakur  के खिलाफ कई बाते हैं और  इनकी अनदेखी नहीं की जा सकती। उन्होंने इस मांग को दोहराया कि कोर्ट अपनी तरफ से कोई आदेश ना दे।

Anurag के वकील की प्रतिवादियों की लिस्ट से Virbhadra का नाम हटाने की मांग

वहीं, सांसद Anurag Thakur के Lawyer पीएस पटवालिया ने पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह का नाम प्रतिवादियों की लिस्ट से हटाने की मांग कोर्ट से की। उन्होंने कोर्ट में बताया कि याचिका हमने दाखिल की थी। इसमें पूर्व सीएम को प्रतिवादी बनाया था। इसलिए प्रतिवादी बनाया था कि वब उस समय सीएम थे। वीरभद्र सिंह सीएम रहते राजनीतिक विद्वेष के तहत कार्रवाई कर रहे थे। पर अब इनकी इस मामले में कोई भूमिका नहीं है। हम पूर्व सीएम Virbhadra Singh का नाम हटाने की मांग करते हैं। इस पर Virbhadra Singh के Lawyer अनूप जॉर्ज चौधरी ने कोर्ट में कहा कि वे पक्ष बनने के लिए अलग से अर्ज़ी लगाना चाहते हैं। इसी बात पर दोनों की झड़प हो गई।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है