Covid-19 Update

2,22,890
मामले (हिमाचल)
2,17,495
मरीज ठीक हुए
3,721
मौत
34,200,957
मामले (भारत)
244,634,716
मामले (दुनिया)

हिमाचल में सवर्ण आयोग की मांग पकड़ रही जोर, आरक्षण हटाने को लेकर हल्लाबोल

सवर्ण समाज आयोग गठन के लिए राज्यपाल को भेजा ज्ञापन

हिमाचल में सवर्ण आयोग की मांग पकड़ रही जोर, आरक्षण हटाने को लेकर हल्लाबोल

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी टीम। हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में पुलिस भर्ती में आरक्षण (Reservation) के खिलाफ क्षत्रिय संगठन ने मोर्चा खोल दिया है। क्षत्रिय संगठन ने आरक्षण के खिलाफ प्रदेश भर में डीसी के माध्यम से राज्यपाल विश्वनाथ आर्लेकर (Governer Vishvnath Arlekar) को ज्ञापन भेजा। शिमला में भी संगठन के पदाधिकारियों ने डीसी को ज्ञापन सौंपा और पुलिस भर्ती में आरक्षण खत्म करने की मांग की। साथ ही मांग पूरी ना होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी।

सवर्ण युवाओं के साथ हो रहा सौतेला व्यवहार

इस मौके पर देवभूमि क्षत्रिय संगठन के अध्यक्ष मदन सिंह ने कहा कि सवर्ण परिवारों के योग्य युवाओं के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। काबिल युवाओं का भविष्य अंधकार में डाला जा रहा है। मदन सिंह ने कहा कि प्रदेश में हो रही पुलिस भर्ती में जातिगत आधार पर आरक्षण दिया जा रहा है। जिसके चलते सवर्ण परिवारों के युवा पुलिस में भर्ती होने से वंचित हो रहे हैं। जातिवाद के आधार पर आरक्षण सरकारी विभागों में खत्म करना चाहिए। उन्होंने राज्यपाल से मांग की है कि पुलिस भर्ती में आरक्षण खत्म की जाए। वहीं, उन्होंने सवर्ण आयोग के गठन की भी मांग रखी है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल से रोजी-रोटी कमाने विदेश गए वीरेंद्र की हार्ट अटैक से हुई मौत, शव को भारत लाना हुआ कठिन

कुल्लू में भी दिखी झलक

वहीं, इस तरह का विरोध प्रदर्शन कुल्लू जिले से भी देखने को मिला। कुल्लू ज़िला मुख्यालय में क्षत्रिय देव भूमि संगठन ने स्वर्ण आयोग के गठन को लेकर धरना प्रदर्शन किया। वहीं, कुल्लू डीसी के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजा।

हमीरपुर में भी दिखा रोष 

हमीरपुर में देवभूमि क्षत्रिय संगठन के पदाधिकारियों ने उपायुक्त हमीरपुर के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा । ज्ञापन में प्रमुख रूप से प्रदेश में  सवर्ण  आयोग के गठन आर्थिक आधार पर आरक्षण को लागू करने की मांग की गई है साथ ही  विभिन्न नौकरियों में  में सवर्ण परिवारों के युवाओं के साथ भेदभाव पर कोई कार्रवाई करने की मांग की गई  ।प्रतिनिधिमंडल ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि अच्छे अंक लेने के बावजूद भी सवर्ण परिवार के युवाओं को नौकरी नहीं मिल पा रही है इसलिए सरकार को समानता का अधिकार लागू करना चाहिए ।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है