Covid-19 Update

57,296
मामले (हिमाचल)
55,987
मरीज ठीक हुए
962
मौत
10,698,674
मामले (भारत)
101,058,488
मामले (दुनिया)

अब IAS Officers को Online देनी होगी Property की जानकारी

अब IAS Officers को Online देनी होगी Property की जानकारी

- Advertisement -

लोकेंद्र बेक्टा/शिमला। आईएएस अफसरों को ऑनलाइन ही अपनी संपत्ति का ब्यौरा देना होगा। यह ब्यौरा 31 जनवरी तक देना होगा। संपत्ति का ब्यौरा देने के लिए बाकायदा आईपीआर मॉड्यूल बनाया गया है। इसके माध्यम से ही संपत्ति का ब्यौरा दिया जाएगा। यही नहीं, नौकरशाहों को संपत्ति के ब्यौरे को खुद ही सत्यापित भी करना होगा। सत्पायन डिजिटल साइन से होगा। इस संबंध में कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय की तरफ से दिशा निर्देश जारी हुए हैं।

  • केंद्र के आदेश, 31 जनवरी तक करो सार्वजनिक संपत्ति

केंद्र का आदेश मिलते ही राज्य के मुख्य सचिव ने भी इन आदेशों को कार्मिक विभाग को लिखा और उन्होंने इस संबंध में सभी आईएएस अफसरों को पत्र जारी किया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक आईएएस अफसरों को हर साल अपनी संपत्ति का ब्यौरा देना होता है। अब तक यह ब्यौरा लिखकर कार्मिक विभाग के पास जमा करवाया जाता था, लेकिन कई राज्यों से इन अफसरों का ब्यौरा दिल्ली नहीं पहुंचता था, कई राज्य आईएएस अफसरों के संपत्ति के ब्यौरे को अपनी वेबसाइट पर अपलोड नहीं करते थे। इस कारण यह नहीं पता होता था कि किस अफसर ने अपनी संपत्ति का ब्यौरा दिया है और किसने नहीं। इसके साथ-साथ किस अफसर ने सही ब्यौरा दिया है और किसने अपनी संपत्ति छिपाई है। इस देखते हुए केंद्र सरकार ने संपत्ति के ब्यौरे को जानने को ऑनलाइन सिस्टम को अपनाया है।

इस कारण यह नहीं पता होता था कि किस अफसर ने अपनी संपत्ति का ब्यौरा दिया है और किसने नहीं। इसके साथ-साथ किस अफसर ने सही ब्यौरा दिया है और किसने अपनी संपत्ति छिपाई है। इस देखते हुए केंद्र सरकार ने संपत्ति के ब्यौरे को जानने को ऑनलाइन सिस्टम को अपनाया है। इससे अब आईएएस अफसरों को खुद ही ऑनलाइन सारी जानकारी अपलोड करनी होगी। इसके लिए अलग से आईपीआर मॉड्यूल बनाया गया है। आईपीआर मॉड्यूल में लिखित में दस्तावेज अपलोड करने की भी सुविधा है और इसमें आईएएस अफसर को बताए गए मॉड्यूल पर जाना होगा और वहां दी गई जानकारी के मुताबिक कार्य करना होगा। अपनी संपत्ति की जानकारी देने के लिए अफसर को बाकायदा अलग से आईडी दी जाएगी और उसका अलग से पासवर्ड भी मिलेगा। यानी जो जानकारी अफसर ने इसमें दी, उसमें किसी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं हो सकती। इस प्रकार अब अफसरों को ऑनलाइन अपनी संपत्ति का ब्यौरा देना ही होगा। उन्हें  बताना होगा कि उनकी कितनी संपत्ति है और उन पर कितना कर्ज है। इसे उन्हें खुद ही सत्यापित भी करना होगा। इसके लिए कार्मिक विभाग ने डिजिलटल साइन की सुविधा दी है। केंद्र से मिले इस पत्र के बाद राज्य सरकार के कार्मिक विभाग ने इसे सभी आईएएस अफसरो को इस संबंध में जानकारी दे दी है। कार्मिक विभाग ने सभी आईएएस अफसरों से कहा है कि दिए गए दिशा-निर्देश के मुताबिक वे अपनी संपत्ति की सारी जानकारी तय समय के भीतर ऑनलाइन ही उपलब्ध करवाएं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है