Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,380,438
मामले (भारत)
227,512,079
मामले (दुनिया)

अब 30 मिनट में आएंगे Corona Test के नतीजे, ICMR ने पहली स्वदेशी एंटीजन किट को दी मंजूरी

अब 30 मिनट में आएंगे Corona Test के नतीजे, ICMR ने पहली स्वदेशी एंटीजन किट को दी मंजूरी

- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच देशवासियों के लिए एक अच्छी खबर है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने दूसरे रैपिड एंटीजन किट को कोराना वायरस के टेस्ट के लिए मंजूरी दे दी। इस किट को ‘मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस’ द्वारा तैयार किया गया है और यह भारत में बनी पहली टेस्ट किट है, जिसे मंजूरी दी गई है। इस टेस्ट किट का नाम ‘पैथोकैच कोविड-19 एंटीजन रैपिड टेस्टिंग किट’ है, जिसे पूरी तरह से भारत (India) में तैयार और निर्मित किया गया है। यह तत्काल प्रभाव से ऑर्डर के लिए उपलब्ध होगी और इसकी कीमत 450 रुपए के करीब होगी। ‘मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस’ के प्रबंध संचालक हसमुख रावल ने कहा कि मायलैब की टीम इस महामारी से लड़ने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।

यह भी पढ़ें: Himachal Covid Update: सामने आए 65 नए मामले; ठीक होने वालों का आंकड़ा 1100 पार

 

आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR test) को सस्ती दरों पर मुहैया कराकर हमने विदेशी किटों पर से निर्भरता कम की और अब हमने कोविड-19 टेस्टिंग (Covid-19 Testing) को बढ़ाने के लिए कॉम्पैक्ट एक्सएल को लॉन्च किया है। उन्होंने कहा कि अब एंटीजन टेस्टिंग किट के लिए मंजूरी मिलने के बाद, हम कोविड-19 के पूरे स्पेक्ट्रम को कवर कर सकेंगे साथ ही इस महामारी से लड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। मायलैब का ‘रियल टाइम रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पोलीमरेज चेन रिएक्शन’ (आरआरटी-पीसीआर) टेस्ट किट भी पहली स्वदेशी जांच किट थी, जिसे भारत में उपयोग के लिए आईसीएमआर की मंजूरी मिली थी।

 

 

एंटीजन-आधारित टेस्टिंग का उपयोग आरआरटी-पीसीआर के साथ-साथ देश के समग्र टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाने और रोगियों का इलाज करने के लिए किया जा रहा है। रैपिड एंटीजन टेस्ट आरआरटी-पीसीआर की तुलना में कम वक्त लेता है, क्योंकि आरआरटी-पीसीआर टेस्टिंग के लिए लगभग पांच घंटे का समय लगता है, जबकि इसमें सिर्फ 30 मिनट लगते हैं। वहीं, एंटीजन टेस्ट के लिए प्रयोगशाला (Laboratory) की आवश्यकता नहीं होती है, जबकि आरआरटी-पीसीआर टेस्टिंग के लिए प्रयोगशाला की जरूरत होती है। इससे पहले, आईसीएमआर ने एक दक्षिण कोरियाई कंपनी एसडी बायोसेंसर द्वारा तैयार किए गए एंटीजन टेस्ट किट को मंजूरी दी थी। इस कंपनी की एक शाखा हरियाणा के मानेसर में स्थित है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है