Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

एक्स सर्विसमैन और CGHS का कैशलेस इलाज बंद कर देंगे अस्पताल, सरकार को दिया अल्टीमेटम

एक्स सर्विसमैन और CGHS का कैशलेस इलाज बंद कर देंगे अस्पताल, सरकार को दिया अल्टीमेटम

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश में करीब 50 लाख लोगों की स्वास्थ्य सेवाओं पर संकट के बादल छाने के आसार नजर आ रहे हैं। दरअसल मैक्स, फोर्टिस समेत देश के 9000 अस्पतालों ने सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम (CGHS) और एक्स सर्विसमैन कंट्रीब्यूशन हेल्थ स्कीम (ECHS) के तहत कैशलेस सेवाओं को बंद करने का अल्टीमेटम दे दिया है। इन अस्पतालों ने चेतावनी दी है कि अगर केंद्र सरकार ने 30 दिन के अंदर उनका बकाया नहीं चुकाया तो वे सेंट्रल ग्रुप हेल्थ स्कीम (सीजीएचएस ) और एक्स-सर्विसमैन हेल्थ स्कीम (ईसीएचएस) के तहत अपनी सेवाएं बंद कर देंगे। सरकार के ऊपर इन अस्पतालों का 650 करोड़ रुपए से ज्यादा का बकाया शेष है।

बता दें कि इन स्कीम्स के तहत कवर होने वाले मरीजों को कैशलेश इलाज मुहैया कराया जाता है। जिसका भुगतान सरकार द्वारा बाद में किया जाता है। इस मसले पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) का कहना है कि अगर जल्द अस्पतालों का बकाया भुगतान नहीं किया गया तो सीजीएचएस/ ईसीएचएस के मरीजों के लिए कैशलेस सेवाएं ठप हो सकती हैं। आईएमए ने यह भी चेताया है कि इससे अस्पताल बंद हो सकते हैं और यहां काम करने वालों की नौकरियां भी जा सकती है। इस मसले पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के संयुक्त सचिव आलोक सक्सेना द्वारा बताया गया कि इस साल कैशलेस सेवाओं के लिए करीब 1400 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं। इसके अलावा और पेमेंट के भुगतान की प्रक्रिया जारी है।


हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है