Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

Amritsar जा रहे हैं तो इन जगहों का खाना जरूर चखना

Amritsar जा रहे हैं तो इन जगहों का खाना जरूर चखना

- Advertisement -

पंजाब के अमृतसर में स्थित गोल्डन टेंपल दुनियाभर में मशहूर है गोल्डन टेंपल (Golden Temple)दो देखने देश-विदेश से बड़ी संख्या में लोग आते हैं। गुरू के दर पर माथा टेकने के बाद लंगर का प्रसाद लेना कोई नहीं भूलता। इस गुरू की नगरी में इसके अलावा भी बहुत कुछ और है जो इस नगरी को खास बनाता है। हमारी ये रपट गुरू की नगरी जाने वालों के लिए इसलिए खास हैं,चूंकि हम उन्हें यहां के जायके से रूबरू करवाएंगे। गुरू की ये नगरी पेट-पूजा के लिए भी जानी जाती है, हम अपनी रपट में यही बताने जा रहे हैं कि आप अगर अमृतसर जा रहे हैं तो पेट-पूजा कहां-कहां हो सकती है।


गुरू का लंगर
अमृतसर  जाने वाला कोई भी शख्स सबसे पहले गोल्डन टेंपल यानी स्वर्ण मंदिर में माथा टेकने जाता है,उसके बाद यहीं पर बनने वाले प्रसाद रूपी लंगर को ग्रहण करता है। अगर आपको यहां के लंगर के बारे में पता नहीं है तो जब भी स्वर्ण मंदिर आए तो लंगर जरूर ग्रहण करें। यहां एक साथ चालीस हजार लोगों के लिए लंगर ग्रहण करने की व्यवस्था है। यहां पर हर धर्म,समुदाय के लोग एक साथ बैठकर लंगर ग्रहण करते हैं। इससे पहले यहां प्रसाद के रूप में मिलने वाला हलवा यानी “कड़ाह” बेहद स्वादिष्ट होता है।

 पाल दा ढाबा में “पाया”
अमृतसर पहुंचने के बाद यदि आप कुछ नया ट्राई करना चाहते हैं, तो “पाया” यह एक अच्छा विकल्प हो सकता है। ये बहुत लज़ीज होते हैं। इसके स्वाद के लिए आप हाथी गेट के पास स्थित पाल दा ढाबा जा सकते हैं। विशेषता यह कि इसका मालिक आज भी खुद किचन में  शेफ की कमान संभालता है। गरम मसाला, मिर्च और दाल के पत्तों से बने इस शोरबे में ढेर सारे “पाया”के पीस रहते हैं। इसे खाने का असली मजा तो कीमा पराठा के साथ है।

 मामे दा ढाबा पर भेजा फ्राई
यह एक यम्मी डिश है। यहां का मालिक खुद को मामा कहता है। इसमें बकरे के भेजे को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर मसाले और जड़ी-बूटियों के साथ भूना जाता है।

 भरवां दा ढाबा
अमृतसर में यदि आप पंजाबी भोजन की इच्छा रखते हैं, तो आप भरवां दा ढाबा जरूर ट्राई करें। सरसों साग के साथ मक्के की रोटी। छोले के साथ ,आलू या पनीर स्टफ्ड, भरवां कुल्चे। ये सब कुछ ऐसी चीजें हैंए जो यहां से बेहतर कहीं नहीं मिल सकती। स्वर्ण मंदिर के नजदीक होने के कारण भरवां दा ढाबा शुद्ध शाकाहारी है।

आदर्श मीट शॉप की मटन चॉप
रोज गार्डन के पास सी ब्लॉक मार्केट कांपलेक्स पहुंचने के बाद ऑर्डर देने वालों की लंबी कतार देखकर आप थोड़ा निराश हो सकते हैं। मगर जब यहां के खाने का स्वाद लेगेए तो सारी निराशा खत्म हो जाएगी। हल्का तला, और धीमी आंच पर पकाया जाने वाला यहा का मुलायम मटन चॉप लाजवाब  है। चॉप खाने के बादए अभी भी अगर आपके मुंह में पानी आना बंद ना हुआ हो, तो आप यहां का मटन टिक्का ट्राई कर सकते हैं।

बीरा चिकन कॉर्नर पर चिकन टिक्का तंदूरी
बीरा चिकन कॉर्नर दिखने में कुछ खास नहीं हैए लेकिन यहां का भोजन काफी लजीज़ हैं यहां बैठने की क्षमता काफी सीमित है, इसलिए यदि आप अपनी कार में ही इसका आनन्द लेना चाहते हैं,तो मेजबान ढाबा वाले खुशी-खुशी आपकी सेवा करने के लिए तैयार रहता है। यहां मिलने वाला चिकन-टिक्का मसालेदार होता है। कीमा-नान के साथ इसकी जोड़ी क्या खूब जमती है। यदि ये कॉम्बो अगर थोड़ा बहुत कमजोर लगे। तो मसालेदार ग्रेवी भी यहां मुफ्त में पेश की जाती है।

आहूजा लस्सी
लस्सी पंजाब का मशहूर पेय पदार्थ कहलाता है। हिंदू कॉलेज और दुर्गियाना मंदिर के पास स्थित आहूजा लस्सी के बारे में हर ऑटोवाले को पता रहता है।यहां की लस्सी को लगातार पीने वाले भी आज तक इसमें मौजदू  इनग्रेडिएंट को नहीं समझ पाए हैं।

 हॉल बाज़ार का फ्रूट क्रीम व कुल्फा
गुरू की नगरी में हॉल बाजार का फ्रूट क्रीम व कुल्फा बेहद मशहूर है। यह पतले-पतले कतरे हुए बर्फ की तरह फल, क्रीम और सूखे मेवे का मिश्रण है। यह इतनी ज्यादा मात्रा में परोसा जाता है कि आप इसे पूरा पीते-पीते पेट पकड़ने लगते हैं।

कान्हा स्वीट्स की पिन्नी
पिन्नी एक प्रकार का लड्डू हैं,जो विभिन्न प्रकार के दाल और गुड़ से बने होते हैं। यह अमृतसर का एक पॉपुलर आइटम है। कान्हा स्वीट्स पर पिन्नी के अलावा अदभुत हलवे और बेसन के लड्डू भी मिलते हैं,जो यहां एक बार आने वाले को बार-बार बुलाते हैं।

 नोवल्टी स्वीट्स का गाजर का हलवा
मोटे-मोटे कटे हुए गाजर के टुकड़ों से बना हलवा मुंह में पड़ते ही स्वाद का अहसास करवाने लगता है। यहां का गाजर का हलवा ना तो बहुत मीठा होता है, ना ही उससे घी टपक रहा होता। इसको खाने के बाद आप खुद ही समझ जाएंगे कि यह कैसे दूसरों से अलग है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है