Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

बैठते समय पैर हिलाने की है आदत तो हो जाएं सावधान

बैठते समय पैर हिलाने की है आदत तो हो जाएं सावधान

- Advertisement -

हर व्यक्ति के बैठने का अंदाज अलग होता है लेकिन कुछ लोगों को बैठते समय पैर हिलाने की काफी आदत होती है। शायद आपने भी अपने आसपास ऐसे किसी व्यक्ति को देखा हो या आप खुद भी ऐसा करते हों। अगर सच में आपको ऐसा करने की आदत है तो सावधान हो जाएं क्योंकि यह कोई आम बात नहीं है। आपको रेस्टलेस सिंड्रोम नाम की बीमारी हो सकती है। इस बीमीरी का मुख्य कारण शरीर में आयरन की कमी का होना है। ये बीमारी 7% लोगों में पाई जाती है और इसके लक्षण किसी भी उम्र में नजर आ सकते हैं। हम आपको इस बीमारी के बारे में विस्तार से बताते हैं …
रेस्टलेस लेग सिंड्रोम एक न्यूरोलॉजिकल समस्या है। इस प्रॉब्लम का संकेत कुर्सी या फिर सोफे पर बैठ कर पैरों को लगातार हिलाना है। कई बार यह कुछ लोगों की आदत होती हैं या फिर मानसिक परेशानियों के कारण भी यह समस्या होती है। इसके होने से रात को सोते समय टांगो में बहुत जोर से दर्द होता है जिसके कारण आप चैन की नींद नहीं ले पाते। कभी-कभी कुछ लोगों में पैर हिलाने के लक्षण तो देखे जाते हैं लेकिन उन्हें किसी तरह का दर्द नहीं होता। इसका मतलब यह नहीं कि इस बीमारी से उनके शरीर को कोई नुकसान नहीं होता। अगर इस समस्या का सही समय पर इलाज न किया जाए तो आपको आगे जाकर इसे ठीक करने के लिए न्यूरोलॉजिस्ट और साइकोलॉजिस्ट दोनों डॉक्टर से ईलाज कराने की जरूरत पड़ सकती है।

रेस्टलेस लेग सिंड्रोम के कारण

  • जो लोग किसी तनाव के कारण पूरी नींद नहीं ले पाते वह इस बीमारी का शिकार होते हैं।
  • कई बार यह प्रॉब्लम ज्यादा देर काम करने वालों को अत्यधिक थकान होने के कारण भी हो सकती है।
  • महिलाओं में यह समस्या पीरियड्स के दौरान होने वाले लगातार दर्द के कारण नींद न पूरी होने के कारण होती है।
  • डायबिटीज और पार्किन्सन बीमारी से ग्रसित लोगों में भी यह प्रॉब्लम देखने को मिलती है।
  • यह बीमारी शरीर में आयरन, मैग्नीशियम और विटामिन बी12 आदि पोषक तत्वों की कमी से होती है।
  • डिप्रेशन या एलर्जी की दवाई लगातार खाने से भी रेस्टलेस लेग सिंड्रोम की समस्या हो सकती है।

बीमारी के लक्षण

  • बैठे या लेटते हर समय लगातार पैरों को हिलाना।
  • जब पैरों में दर्द और खिंचाव महसूस होता हो।
  • रात को अच्छे से नींद न आना बार-बार करवट बदलना।
  • पैरों में चुभन जैसी दर्द का होना।
  • ज्यादातर इसका दर्द रात को सोने के समय होता है और दिन में ठीक हो जाता है।
  • दिन के समय इस दर्द का कारण लंबे समय तक खड़े रहना या फिर ज्यादा देर पैदल चलने पर होता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है