×

तन और मन को रखना है शुद्ध तो आज ही शुरू कर दें योगिक आहार

वजन कम करने और पाचन स्वास्थ्य में सुधार में फायदेमंद

तन और मन को रखना है शुद्ध तो आज ही शुरू कर दें योगिक आहार

- Advertisement -

आप शांत और स्वस्थ रहना चाहते हैं तो जल्द से जल्द योगिक आहार का सेवन शुरू कर दें। ये आहार तन और मन को शुद्ध करता है। इसमें ताजे फल और सब्जियों (Fresh fruits and vegetables) का ही सेवन करना होता है, जबकि पैक्ड और कैन्ड फूड की मनाही होती है। योगिक आहार (Yogic Diet) मुख्य रूप से सात्विक आहार होता है, जिसमें ताजे फल और सब्जियां शामिल होती हैं। जबकि मांस, अंडे, प्याज, लहसुन, तले हुए खाद्य पदार्थ और शराब से दूरी बनानी होती है। योगिक आहार मन को तो शांत रखता ही है साथ ही शरीर को भी दुरूस्त बनाए रखता है। यह डाइट वजन कम करने, पाचन स्वास्थ्य में सुधार करने और खराब मूड को बेहतर बनाने में बेहद फायदेमंद है। आइए आपको विस्तार से योगिक डाइट के फायदे के बारे में बताते हैं …


यह भी पढ़ें: रात को सोने से पहले लगती है भूख तो खाइए कुछ हेल्दी, इन फलों को करें अवॉइड

ये हैं योगिक डाइट के फायदे –

शरीर में ऊर्जा बढ़ाए

योगिक आहार आपके शरीर की आध्यात्मिकता पर ध्यान केंद्रित करता है। इस आहार के साथ अपनी दिनचर्या में योग शामिल करना व्यक्ति की मानसिक स्थिति के लिए बहुत अच्छा है।

 

पाचन सुधार में लाभकारी

पेट के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए योगिक डाइट लाभकारी है। आपको बता दें कि होलग्रेन और फलों में फाइबर अधिक मात्रा में होता है, जो मल प्रक्रिया में सुधार करते हुए बॉवल मूवमेंट को बेहतर बनाते हैं।

विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाले

योगिक डाइट को अपनी दिनचर्या में शामिल करना अच्छा विकल्प है। यह हमारे शरीर से मल, मूत्र और पसीने के रूप में विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का सफल तरीका है।

 

मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देने में मददगार

योगिक आहार में प्लांट बेस्ड फूड शामिल हैं, इसलिए इन्हें पचाना आसान होता है। स्वस्थ भोजन मेटाबॉलिज्म में सुधार करने में मददगार है। इसका सेवन कर आप हल्का महसूस करते हैं।

वजन को नियंत्रित करना आसान

योगिक आहार का मतलब है फल, सब्जियों और अनाज का सेवन करना। इन खाद्य पदार्थों में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है। इसे खाने के बाद आपको काफी समय तक भूख नहीं लगती। ऐसे में पेट भरा रहता है और आप बेवजह अतिरिक्त भोजन खाने से बच जाते हैं। जिससे वजन को नियंत्रित करना आसान हो जाता है।

योगिक आहार लेते समय इन चीजों से रहें बिल्कुल दूर –

  • योगिक डाइट में शराब की मनाही होती है। इसमें मॉडरेशन में लेनी चाहिए। शराब में कई रसायन और विषाक्त पदार्थ मौजूद होते हैं, जो आपको विचलित करने का काम करेंगे। इसलिए इससे बचने की कोशिश करें।
  • प्रोसेस्ड फूड का सेवन योगिक डाइट में की गई सबसे आम गलतियों में से एक है, जो अधिकतर लोग करते हैं। डायबिटीज और वजन कम करने की स्थिति में तो पूरी तरह से इनसे परहेज करना चाहिए। पैक्ड फूड के बजाय फल, सलाद, नट्स, दूध, ओट्स , सैंडविच और मूसली जैसे विकल्प अपनाने चाहिए।
  • योगिक आहार में आपको योगियों की तरह तले हुए भोजन खाने के बजाय फलों और सब्जियों का सेवन करना होगा। योगी लोग जितना संभव हो, उतना कम और अधिक स्वस्थ भोजन खाते हैं। यहां तक की माइक्रोवेव में पके हुए भोजन को भी योगिक आहार में लेने से बचें।
  • हालांकि योगिक डाइट के कुछ नुकसान भी हैं जिनको आपको जरूर ध्यान में रखना होगा। इस आहार के सेवन से हल्की कमजोरी आना, चक्कर आना, डायबिटीज के रोगियों में हाइपोग्लाइकेमिया के अलावा लंबे समय तक इसे फॉलो करने पर पोषक तत्वों की कमी महसूस हो सकती है। आप डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही इस डाइट को फॉलो करें।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है