Covid-19 Update

59,059
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,204,179
मामले (भारत)
116,873,133
मामले (दुनिया)

दुनिया की शीर्ष सहकारी संस्था बनी IFFCO, ओवरऑल टर्नओवर रैंकिंग में मिला 65वां स्थान

समिति में 36,000 से भी अधिक भारतीय सहकारी समितियां शामिल

दुनिया की शीर्ष सहकारी संस्था बनी IFFCO, ओवरऑल टर्नओवर रैंकिंग में मिला 65वां स्थान

- Advertisement -

नई दिल्ली। नया साल में भारत वाकई नए आयाम तय कर रहा है। कोरोना की वैक्सीन विकसित कर ली गई और टीकाकरण अभियान भी इतने बड़े स्तर पर किया गया। अब भारत के नाम एक और उपलब्धि दर्ज हुई है। इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (IFFCO) ने पिछले वित्त वर्ष में 125वें स्थान से ओवरऑल टर्नओवर रैंकिंग (Overall turnover ranking) में 65वां स्थान पर पहुंच गया है। इसके साथ ही इफको अब दुनिया की शीर्ष सहकारी संस्था बन गई है। दुनिया की शीर्ष 300 सहकारी संस्थाओं के बीच प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद से अधिक कारोबार के अनुपात के आधार पर इफको सर्वश्रेष्ठ है। यह सहकारी क्षेत्र के साथ-साथ पूरे देश के लिए गर्व की बात है।

यह भी पढ़ें: #FarmersProtest : गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली को लेकर अड़े किसानों ने नहीं मानी Delhi Police की बात

इफको के एमडी और सीईओ यूएस अवस्थी ने ट्वीट किया कि, ‘बहुत खुशी की बात है की इफको दुनिया की नं.1 सहकारी संस्था बन गई है। दुनिया की शीर्ष 300 सहकारी संस्थाओं के बीच प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद से अधिक कारोबार के अनुपात के आधार पर इफको सर्वश्रेष्ठ पर है। आप सभी को बधाई।’ इफको ने कहा कि, ‘इफको राष्ट्र के सकल घरेलू उत्पाद और आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। अंतरराष्ट्रीय सहकारी गठबंधन (आईसीए) द्वारा प्रकाशित नौवीं वार्षिक विश्व सहकारी मॉनिटर (WCM) रिपोर्ट के अनुसार, यह उद्यम के टर्नोवर और देश की संपत्ति को दर्शाता है।’

 

गौर हो कि इफको पूर्णतः भारतीय सहकारी संघ के स्वामित्व में है। वर्ष 1967 में केवल 57 सहकारी समितियों के साथ स्थापित इस समिति में आज 36,000 से भी अधिक भारतीय सहकारी समितियां शामिल हैं। खाद बनाने और बेचने के प्रमुख व्यवसाय के अलावा इन समितियों का व्यवसाय साधारण बीमा से ले कर ग्रामीण दूरसंचार जैसे विविध क्षेत्रों तक फैला हुआ है। अपनी 36,000 सहकारी समितियों के विशाल विपणन नेटवर्क के जरिए, इफको भारत के 5.5 करोड़ किसानों को अपनी सेवाएं प्रदान करते हैं। इफको के विपणन विभाग के सामने भारत के कोने-कोने में रहने वाले किसानों तक खाद को पहुंचाने की कठिन चुनौती रहती है, जिनमें से कुछ किसान तो दुनिया के कुछ सबसे दुर्गम स्थानों में रहते हैं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है