Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

अवैध खननः सरकारी जमीन पर पीले पंजे का आतंक, प्रशासन मूकदर्शक

अवैध खननः सरकारी जमीन पर पीले पंजे का आतंक, प्रशासन मूकदर्शक

- Advertisement -

डमटाल। इंदौरा विस क्षेत्र के माजरा और डमटाल  गांव में क्रेशरों द्वारा अवैध खनन युद्धस्तर पर जारी है। गांव माजरा और डमटाल में लगे स्टोन क्रेशरों ने माजरा वह इसके आसपास के सारे क्षेत्र चक्की खड्ड, जिसमें हजारों एकड़ राम गोपाल मंदिर ट्रस्ट की भूमि को भी नहीं छोड़ा है। यहां पर पोकलेन और जेसीबी मशीनें निरंतर अवैध खनन को अंजाम देती निरंतर देखी जा सकती हैं। सोचने वाली बात यह है कि यह सब प्रशासन की नाक तले हो रहा है।  ढांगू-माजरा सड़क मार्ग भी अवैध खनन की बलि चढ़ता दिख रहा है। इससे हिमाचल सरकार की रोज़ाना करोड़ों रुपए का चूना लग रहा है।

भूमि बंजर होने से पलायन के मूड में लोग

क्षेत्र के बागवान-किसान भूमि बंजर होने से क्षेत्र से पलायन करने के मूड में हैं। सभी नलकूप और सिंचाई योजनाएं सूखने की कगार पर पहुंच चुकी हैं। लोग सरकार और प्रशासन से खनन के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए गुहार लगा थक गए, लेकिन प्रशासन और सरकार मूकदर्शक बन तमाशा देख रही है। अवैध खनन के चलते जम्मू दिल्ली रेलमार्ग पर बने ढांगू में दो पुल भी अवैध खनन की भेंट चढ़ने वाले हैं, जो की एक बड़े हादसे को अंजाम दे सकते हैं।


हजारों एकड़ सरकारी राम गोपाल मंदिर की भूमि पर रोजाना सैकड़ों की तादाद में दिन-रात पोकलेन और जेसीबी मशीनें पीला पंजा चला रही हैं और करीब 100 फीट गहरे गड्ढे डालकर भी रोड़ी बजरी निकालने का काम निरंतर जारी है। वहीं ढांगू और डमटाल पुलिस चौकी करीब एक किलोमीटर की दूरी पर होने के बावजूद सरेआम अवैध खनन को अंजाम दिया जा रहा है।

एसडीएम बोले, होगी कार्रवाई

नूरपुर के एसडीएम आबिद हुसैन सादिक ने बताया कि माजरा और डमटाल में हो रहे अवैध खनन पर जल्द नकेल कसी जाएगी। सरकारी भूमि पर किया गया खनन किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। नूरपुर के डीएसपी मेघनाथ चौहान ने बताया कि अवैध खनन को लेकर पुलिस थाना इंदौरा डमटाल ढांगू को आदेश जारी किए गए हैं और उन पर कड़ी कार्रवाई अमल में लाने को कहा गया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है