ब्यास नदी में अवैध खनन जारी, सड़क पर उतरने की दी चेतावनी

स्वाभिमान पार्टी ने डीसी को सौंपा ज्ञापन

ब्यास नदी में अवैध खनन जारी, सड़क पर उतरने की दी चेतावनी

- Advertisement -

धर्मशाला। जिले में खनन को रोकने के जगह स्थानीय पुलिस प्रशासन व खनन विभाग अवैध खनन कर रहे लोगों पर अपनी आंखें बंद किए हुए है। जिला कांगड़ा के रक्कड़ के मसेह खड्ड से चंबा पतन तक ब्यास नदी में हो रहे अवैध खनन को लेकर शुक्रवार को स्वाभिमान पार्टी की प्रदेश महिला मंत्री नीशा कटोच की अगुवाई में डीसी कांगड़ा को ज्ञापन सौंपा
स्वाभिमान पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बलदेव राज सूद ने जानकारी देते हुए बताया कि बीते 2 फरवरी को अवैध खनन को अंजाम दे रहे वाहनों पर विभागीय कार्रवाई अमल में लाई गई थी, लेकिन बाद में स्थानीय प्रशासन ने अवैध खनन कर रहे वाहनों को चालान कर छोड़ दिया। इस मौके पर कांगड़ा उपमंडल अध्यक्ष अनुज कटोच ने कहा कि 4 फरवरी को राजस्व विभाग के तहसीलदार, माइनिंग अधिकारियों ने मौके पर नदी से निकाले गए।

यह भी पढ़ें: नूरपुरः जेसीबी मशीनों से हो रहा खनन, लोगों में रोष

अवैध पत्थरों के 940 ढेरों की तफ्तीश की गई थी और आश्वासन दिया था कि अवैध खनन को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा, लेकिन अब तक उस पर लगाम लगता नहीं दिख रहा है। स्वाभिमान पार्टी के पदाधिकारियों ने जिलाधीश से मांग की है कि इस क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन को कारोबार को बंद करवाया जाए, ताकि अतिक्रमण की मार झेल रही नदी को बचाया जा सके। उन्होंने विभाग को चेताया है कि अगर इस अवैध खनन को बंद नहीं किया जाता है तो स्वाभिमान पार्टी सड़क पर उतरेगी व शासन प्रशासन के खिलाफ प्रदेशव्यापी आंदोलन शुरू करेगी।

हिमाचल व पंजाब की जमीन की हदबंदी बनी परेशानी

हिमाचल व पंजाब की जमीन की हदबंदी न होने करने के कारण सीमा क्षेत्र में अवैध माइनिंग धड़ल्ले से जारी है। जिले के नूरपुर सब डिवीजन के तहत बॉडी खड्ड लोधवा और कंडवाल गांव के साथ लगते चक्की दरिया में धड़ल्ले से अवैध माइनिंग हो रही है और प्रदेश सरकार को करोड़ों रुपए के राजस्व की चपत लग रही है। पानी का स्तर भी नीचे जा रहा है। जब भी माइनिंग डिपार्टमेंट के कर्मचारी रेड करने जाते हैं तब वह अपनी मशीनें लेकर पंजाब की तरफ भाग जाते हैं। माइनिंग विभाग के पास एक ही जवाब होता है कि जहां माइनिंग हो रही है वह पंजाब का हिस्सा है। इसका फायदा माइनिंग माफिया को मिल रहा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें हिमाचल अभी अभी न्यूज अलर्ट

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है