Covid-19 Update

59,065
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,210,799
मामले (भारत)
117,078,869
मामले (दुनिया)

हमीरपुर की शुक्कर खड्ड में अवैध खननः पानी का जलस्तर गिरा, पुल की नींव भी खतरे में

यहां सरकार के नियमों को ताक पर रखकर चल रहा है खनन का काम

हमीरपुर की शुक्कर खड्ड में अवैध खननः  पानी का जलस्तर गिरा, पुल की नींव भी खतरे में

- Advertisement -

हमीरपुर। जिला के बड़सर उपमंडल ( Badsar subdivision) के तहत घोडी-धबीरी के पास शुक्कर खड्ड ( Shukkar Khad )में सरकार के मानकों को ताक पर रखकर जेसीबी के माध्यम से खनन किया जा रहा है, जिसके चलते चार पंचायतों के लोग प्रभावित हो रहे हैं। अवैध तरीके से हो रहे खनन के चलते पेयजल योजनाओं के साथ पानी का स्तर भी गिरता जा रहा है तो बिलासपुर जिला ( Distt Bilaspur) को जोड़ने वाले पुल की नींव भी खतरे में है। इसके साथ ही खड्ड के साथ लगती हजारों कनाल भूमि भी कटान की वजह से हर बार बह जाती है, जिससे खेतीबाड़ी पर खतरे के बादल छाए हुए है। बता दें घोड़ी -धबीरी के पास शुक्कर खड्ड पर स्थापित शुक्कर स्टोन क्रशर के विरोध में तीन पंचायतों के प्रतिनिधियों व स्थानीय लोगों ने विरोध दर्ज करवाया है। तीन पंचायत के प्रतिनिधियों में ग्राम पंचायत बड़ा ग्रां की प्रधान बलराम, जमली पंचायत की प्रधान अनुराधा, वार्ड पंच श्याम सिंह, धर्म सिंह, तथा घोड़ी धबीरी पंचायत के प्रधान रविद्र सिंह सहित उपप्रधान व सदस्य जबकि जमली पंचायत के पूर्व प्रधान दीनानाथ सहित स्थानीय लोग शामिल थे। उक्त लोगों ने यहां स्थापित शुक्कर स्टोन क्रशर का जमकर विरोध किया।

यह भी पढ़ें: सुंदरनगर Gang Rape मामलाः फरार दो आरोपी दबोचे, Mobile व गाड़ी भी जब्त

प्रतिनिधियों व लोगों का आरोप है कि शुक्कर स्टोन क्रशर अवैध तरीके से स्थापित किया गया है। इस मामले की जांच जिला प्रशासन और खनन विभाग को समय रहते करनी चाहिए, अन्यथा स्थानीय लोग बड़ा आंदोलन छेड़ेंगे। पंचायत प्रतिनिधियों व लोगों का कहना है कि अवैध खनन करने से उनकी जमीन को भारी नुकसान हो रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि स्टोन क्रशर स्थापित करते समय सभी नियमों व शर्तों को दरकिनार किया गया है जिसका खमियाजा आज लोगों को भुगतना पड़ रहा है।स्थानीय लोगों का कहना है कि इस अवैध खनन से शुक्र खड्ड पर स्थापित चार पेयजल योजनाएं प्रभावित हो रही हैं और साथ ही गांवों के लिए स्थापित हैंडपंपों के पानी का जलस्तर कम हुआ है। उन्होंने बताया कि हमीरपुर व बिलासुपर को जोड़ने वाले नदी के उपर बने पुल को अवैध खनन से खतरा पैदा हो गया है। किसानों की भूमि का कटाव हो रहा है और खनन माफिया रात के अंधेरे जेसीबी लगाकर खनन कर रहा है।

क्रशर बंद करवाने पर अड़े पंचायत प्रतिनिथि

जमली पंचायत की प्रधान अनुराधा देवी ने कहा कि सरकार व प्रशासन को शीघ्र इस क्रशर को बंद कर देना चाहिए। उन्होंने डीसी हमीरपुर देवश्वेता वानिक से मांग की है कि शीघ्र इस स्टोन क्रशर मामले की जांच करवाएं अन्यथा तीनों पंचायत के लोग जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होंगे। उक्त प्रतिनिधियों व लोगों ने सीएम जयराम ठाकुर से भी अवैध खनन पर रोक लगाने का आग्रह किया है। वहीं बड़ा ग्रां पंचायत के वार्ड पंच श्याम सिंह का कहना है कि अवैध खनन के चलते पानी की स्कीमें प्रभावित हो रही हैं जल्द क्रशर को बंद किया जाए।

क्रशर मालिक के पास एम फार्म, विभाग करेगा जांच

वहीं क्रशर में मौजूद कर्मचारी करन राणा का कहना है कि हमारे पास खनन करने के लिए एम फॉर्म उपलब्ध है जो सरकार ने जारी है। उसी के तहत क्रशर में काम किया जा रहा है। गांव वाले हर रोज हमे खनन को लेकर परेशान कर रहे हैं। जिला खनन अधिकारी हमीरपुर हरविंदर सिह ने बताया कि मामले की गहनता से जांच की जाएगी और अगर ऐसा मामला है तो मौके पर जाकर निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लिया जाएगा । उन्होंने कहा कि गैर कानूनी तरीके से खनन करने पर सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है