×

आज भारद्वाज प्रस्ताव लाए और अग्निहोत्री सस्पेंड हुए, 2016 में ठीक उल्टा हुआ था-पढ़ें ये रिपोर्ट

2016 में सुरेश भारद्वाज सहित तीन विधायकों के निलंबन का प्रस्ताव लाए मुकेश अग्निहोत्री

आज भारद्वाज प्रस्ताव लाए और अग्निहोत्री सस्पेंड हुए, 2016 में ठीक उल्टा हुआ था-पढ़ें ये रिपोर्ट

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल विधानसभा के बजट सत्र (Himachal Vidhansabha Budget Session) में राज्यपाल के अभिभाषण के बाद जो कुछ हुआ वो पूरे हिमाचल की जनता ने देखा। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय के अभिभाषण का विरोध करने का मामला धक्का-मुक्की तक जा पहुंचा। इसके बाद संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज (Suresh Bhardwaj) ने कांग्रेस के पांच विधायकों को सत्र से निलंबित करने का प्रस्ताव लाया और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri), हर्षवर्धन चौहान, विनय कुमार, सुंदर सिंह और सतपाल रायजादा को सस्पेंड (MLA Suspended) कर दिया गया। हिमाचल के इतिहास में इससे पहले भी तीन विधायक सत्र से सस्पेंड हो चुके हैं।


यह भी पढ़ें: धक्कामुक्की, हाथापाई और भगदड़…. Vidhansabha के बाहर हुआ ये सब

खास बात यह है कि मौजूदा संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज (Suresh Bhardwaj) ने कांग्रेस के पांच विधायकों को निलंबित करने का प्रस्ताव दिया वो खुद भी सत्र से निलंबित किए जा चुके हैं। इस भी एक और रोचक तथ्य यह है कि उस समय विधानसभा सत्र में निलंबन का प्रस्ताव आज सस्पेंड होने वाले तत्कालीन संसदीय कार्य मंत्री मुकेश अग्निहोत्री( Mukesh Agnihotri) लाए थे। दरअसल 2016 में हिमाचल प्रदेश विधानसभा के धर्मशाला में शीत सत्र चल रहा था। शीत सत्र के तीसरे दिन सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तनातनी हुई थी।

सदन की बैठक में विपक्ष के शोर-शराबे के बीच बाद स्पीकर ने बैठक स्थगित करने का ऐलान किया। इसके बाद सदस दोबारा शुरू हुआ तो उस समय के विधानसभा स्पीकर बृज बिहारी लाल बुटेल के पहुंचने से पहले ही बीजेपी के तत्कालीन मुख्‍य सचेतक सुरेश भारद्वाज विधानसभा स्पीकर की सीट पर खुद ही बैठ गए। इसके बाद सुरेश भारद्वाज ने सीट पर बैठते ही बोले हाउस इज एडजर्न्ड फॉर दि डे। इस दौरान कांग्रेस और बीजेपी के ज्यादातर विधायक भी सदन में पहुंच चुके थे। यह कहने के बाद सुरेश भारद्वाज अपनी पार्टी के विधायकों की तरफ गए।

यह भी पढ़ें:Budget Session : हंगामा करने पर नेता प्रतिपक्ष अग्निहोत्री सहित 5 कांग्रेसी विधायक बजट सत्र से निलंबित

इसके बाद तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने अध्यक्ष को संबोधित करते हुए कहा कि इससे बड़ा लोकतंत्र का मजाक क्या हो सकता है। आसन पर बैठकर सुरेश भारद्वाज कहते हैं कि हाउस इज एडजर्न्ड फॉर दि डे। इस मामले में तत्कालीन संसदीय कार्य मंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने बीजेपी के तीन विधायकों के निलंबल का प्रस्ताव लाया। इसके बाद सदन में विपक्ष की गैर मौजूदगी में सत्ता पक्ष ने बीजेपी के तीन विधायकों सुरेश भारद्वाज, राजीव बिंदल और रणधीर शर्मा को निलंबित करने का प्रस्तावित पारित कर दिया था।

आज भी जब कांग्रेस के विधायकों को निलंबित करने का प्रस्ताव लाया गया तब और इसे पारित किया गया तब भी विधानसभा में विपक्ष का कोई विधायक नहीं था और 2016 में कांग्रेस विधायकों ने बीजेपी विधायकों को निलंबित करने का प्रस्ताव लाया और पारित किया था तब भी विपक्ष का कोई विधायक मौजूद नहीं था।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है