×

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने कुलभूषण जाधव के पक्ष में सुनाया फैसला, फांसी पर रोक

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने कुलभूषण जाधव के पक्ष में सुनाया फैसला, फांसी पर रोक

- Advertisement -

नीदरलैंड। आखिर पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्‍तान को अंतरराष्‍ट्रीय अदालत में मुंह की खानी पड़ी है। आज मैरिट पर सुनाए गए फैसले में इंटरनेशनल कोर्ट आफ जस्टिस (ICJ) ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाते हुए कहा है कि पाकिस्‍तान (Pakisthan) की फौजी अदालत ने इस पूर्व नौसेना अधिकारी को जासूसी के आरोप में एकतरफा कार्रवाई में फांसी की सजा (Death Sentence) सुनाकर वियना समझौते का उल्‍लंघन किया है। हेग में स्थित अंतरराष्‍ट्रीय अदालत ने जाधव की मौत की सजा पर रोक लगाते हुए पाकिस्‍तान को अपने फैसले पर दोबारा विचार करने के निर्देश जारी किए हैं। साथ ही जाधव को काउंसलर एक्‍सेस की सुविधा देने के निर्देश भी दिए गए हैं। इससे भारत (India) की बड़ी जीत बताया जा रहा है।


 

यह भी पढ़ें : श्रीनगर के सोपोर में मुठभेड़: एक आतंकी ढेर, इंटरनेट सेवाएं बंद

 

ज्ञात रहे कि भारतीय नौसेना के रिटायर अधिकारी कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) को अप्रैल 2017 में पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने जासूसी और आतंकवाद के आरोप में  मौत की सजा सुनाई गई थी। इसके बाद से ही भारत ने कुलभूषण की सजा के ऐलान पर कड़ी प्रतिक्रिया देने के साथ ही आईसीजे का रुख किया था। आईसीजे में करीब दो साल तक लड़ाई के बाद आखिर भारत और कुलभूषण के लिए राहत भरी खबर आई है। कुलभूषण जाधव मौजूदा समय में पाकिस्तान की जेल में बंद हैं।गौरतलब है कि कुलभूषण जाधव ईरान के चाबहार में बिजनेस करते थे, मगर पाकिस्‍तान ने उन्‍हें अगवा करके भारत का जासूस करार ले दिया और झूठा दावा किया था कि उन्‍हें बलूचिस्‍तान में जासूसी करते पकड़ा गया है।

 

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है