Covid-19 Update

2,01,210
मामले (हिमाचल)
1,95,611
मरीज ठीक हुए
3,447
मौत
30,134,445
मामले (भारत)
180,776,268
मामले (दुनिया)
×

महाभारत में एक नहीं बल्कि तीन-तीन थे कृष्ण, जानें क्या है रहस्य

महाभारत में एक नहीं बल्कि तीन-तीन थे कृष्ण, जानें क्या है रहस्य

- Advertisement -

नई दिल्ली। महाभारत (Mahabharata) से जुड़े कई रहस्यों के बारे में आपने सुना होगा लेकिन आप शायद ही यह बात जानते होंगे महाभारत में एक नहीं बल्कि तीन तीन श्री कृष्ण थे। इसके पीछे का रहस्य (mystery) भी हम आपको बताने जा रहे हैं। तो आइए जानते है महाभारत के एक रहस्य के बारे में…

यह भी पढ़ें- पोलैंड : महिला ने पहली बार 6 जुड़वां बच्चों को दिया जन्म, राष्ट्रपति ने दी बधाई


यह तो आप जानते ही होंगे कि भगवान श्री कृष्ण भगवान विष्णु के अवतार थे और महाभारत युद्ध के सबसे बड़े सूत्रधार भी थे। लेकिन दूसरे कृष्ण का नाम है महर्षि वेदव्यास, जो कि महाभारत के रचयिता भी थे। महर्षि वेदव्यास का असली नाम श्रीकृष्ण द्वैपायन था और इस संबंध में दो कथाएं प्रचलित हैं। जहां पहला ये कि महर्षि वेदव्यास का रंग सांवला था और उनका जन्म एक द्वीप पर हुआ था, इसलिए उनका नाम श्रीकृष्ण द्वैपायन रखा।

यह भी पढ़ें- कार को ठंडा रखने के लिए महिला ने उस पर चढ़ाई गाय के गोबर की परत

वहीं, तीसरे कृष्ण को नकली कृष्ण भी कहा जाता है। कहा जाता है कि यह पुंड्र देश के राजा का नाम पौंड्रक था और चेदि देश में वह ‘पुरुषोत्तम’ नाम से पहचाना जाता था। पौंड्रक के पिता का नाम वसुदेव था। उसके मूर्ख मित्रों (friends) ने भी उसे ये बता दिया था कि असल में वही भगवान विष्णु का अवतार है, वही असली कृष्ण है। इसके बाद में उस शख्स के दिमाग में यह बात इतनी घर कर गई और उसने भगवान श्रीकृष्ण की तरह ही अपना रूप बना लिया।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है