Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

#PMModi बोले – नए कृषि कानून से खुलेंगे निवेश के रास्ते, मंडियों से बाहर भी फसल बेचने का विकल्प

#FICCI की 93वीं बैठक में पीएम ने दिए कृषि कानूनों को वापस नहीं लेने के संकेत

#PMModi बोले – नए कृषि कानून से खुलेंगे निवेश के रास्ते, मंडियों से बाहर भी फसल बेचने का विकल्प

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने आज भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (FICCI) की 93वीं वार्षिक आम बैठक (एजीएम) और वार्षिक सम्मेलन को संबोधित किया। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कोरोना वैक्सीन, कृषि सुधार, ग्रामीण भारत और उद्योगपतियों से निवेश को लेकर बात की। भाषण के दौरान पीएम मोदी ने संकेत दिए कि सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी। किसान आंदोलन के बीच पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि नए कृषि कानून से निवेश के रास्ते खुलेंगे। हम कृषि से जुड़ी चीजों की दीवारें हटा रहे हैं। किसानों की समृद्धि से ही देश समृद्ध होगा। मोदी ने कहा कि आज भारत के किसानों के पास अपनी फसल मंडियों के साथ ही बाहर भी बेचने का विकल्प है। आज भारत में मंडियों का आधुनिकीकरण तो हो ही रहा है, किसानों को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर फसल बेचने और खरीदने का भी विकल्प दिया है।


 


 

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा –

साल 2020 में हमने काफी कुछ बदलते देखा है किसी टी20 मैच की तरह। भारत ने जिस तरह बीते कुछ महीनों में एकजुट होकर काम किया, नीतियां बनाईं, निर्णय लिए, उससे स्थितियां संभली हैं। इसे देख पूरी दुनिया हैरान है।

कोरोना महामारी के समय भारत ने अपने नागरिकों के जीवन को सर्वोच्च प्राथमिकता दी, ज्यादा से ज्यादा लोगों का जीवन बचाया। आज इसका नतीजा देश भी देख रहा है और दुनिया भी देख रही है।

 

 

इतने उतार-चढ़ाव से देश और दुनिया गुजरी है कि कुछ वर्षों बाद जब हम कोरोना काल को याद करेंगे तो शायद यकीन ही नहीं आएगा। लेकिन अच्छी बात ये रही कि जितनी तेजी से हालात बिगड़े, उतनी ही तेजी के साथ सुधार भी हो रहा है।

 

 

पिछले 6 सालों में दुनिया ने भारत में गजब का विश्वास दिखाया है। और ये विश्वास पिछले 6 महीनों में और भी मजबूत हुआ है। पीएम मोदी ने कहा कि चाहे वो FDI हो या फिर FPI विदेशी निवेशकों ने भारत में रिकॉर्ड निवेश किया और आगे भी कर रहे हैं।

खेती में जितना निजी क्षेत्र के द्वारा निवेश किया जाना चाहिए था उतना निवेश नहीं किया गया। निजी क्षेत्र ने कृषि क्षेत्र को एक्सप्लोर नहीं किया। पीएम मोदी ने कहा कि कृषि क्षेत्र में निजी कंपनियां अच्छा काम कर रही हैं, लेकिन उन्हें और भी अच्छा काम करने की जरूरत है।

 

 

भारत की मंडियों का आधुनिकीकरण हो रहा है। फसलों को मंडी के साथ बाजार में बेचने का विकल्प मिल रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि देश में चौतरफा रिफॉर्म्स किए गए हैं। आज भारत में कॉरपोरेट टैक्स दुनिया में सबसे कम है।

इंस्पेक्टर राज और टैक्स के जंजाल को पीछे छोड़कर भारत अपने उद्यमियों पर भरोसा कर रहा है और आगे बढ़ रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि जब एक सेक्टर विकसित करता है तो उसका विकास दूसरे सेक्टरों पर भी पड़ता है। पीएम मोदी ने कहा कि पहले जो सरकारें थीं वो ब्रेड से लेकर केक भी खुद बनाती थीं, जिससे नुकसान हुआ।

 

 

भारत में वैक्सीन को लेकर तेजी से काम हो रहा है। ये निश्चित है कि 21वीं सदी के भारत की ग्रोथ को गांव और छोटे शहर ही सपोर्ट करने वाले हैं। कारोबारियों को गांव और छोटे शहरों में निवेश का मौका बिल्कुल नहीं गंवाना चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है