Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,427
मामले (भारत)
200,650,253
मामले (दुनिया)
×

ये है “आशा वर्करों” की कहानी

- Advertisement -

 


बीते साढ़े तीन वर्षों में प्रदेश सरकार द्वारा लिए गए कुछ-कुछ निर्णय धरातल पर उतर रहे हैं और आम जन को इसका लाभ भी मिल रहा है। इसी कड़ी में बजट की घोषणाओं को भी सरकार ने बीते साढ़े तीन वर्षों में अमलीजामा पहनाया है। इस साल की बजट घोषणाओं के तहत जून माह में सरकार ने आंगनबाड़ी से जुड़ी विभिन्न कार्यकर्ताओं के मानदेय को अपने बजट वादे के मुताबिक बढ़ाया तो जुलाई माह में आशा वर्करों का मानदेय बढ़ाने की बजट घोषणा को पूरा कर आशा वर्करों को भी तोहफा दिया है। सरकार ने इस साल बजट में आशा वर्करों का मानदेय को बढ़ाने की घोषणा की थी। इसके तहत मानदेय 2000 रुपए से बढ़ाकर 2750 रुपए किया गया है। सरकार के इस निर्णय से प्रदेश की 7964 आशा वर्करों को लाभ होगा। कोरोना काल में जहां सभी क्षेत्रों में आर्थिकी प्रभावित हुई है, वहीं सरकार ने अपने वादे को निभाया, इसका आशा वर्करों ने स्वागत किया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED VIDEO

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है