Covid-19 Update

58,460
मामले (हिमाचल)
57,260
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,046,914
मामले (भारत)
113,175,046
मामले (दुनिया)

इस तरह करेंगे ॐ का दिव्य जाप तो सभी काम होंगे पूरे

इस तरह करेंगे ॐ का दिव्य जाप तो सभी काम होंगे पूरे

- Advertisement -

हमारे वैदिक शास्त्रों में ॐ को एक पवित्र शब्द माना गया है। ॐ एक पवित्र ध्वनि तो है ही लेकिन इसके साथ ही यह अनंत शक्ति का भी प्रतीक है, ॐ यानि ओउम का शब्द तीन अक्षरों से मिलकर बना है. ये शब्द हैं अ उ म. “अ” का अर्थ है आविर्भाव या उत्पन्न होना, पैदा होना, “उ” का उठना, उड़ना या विकास और “म” का मतलब होता है मौन धारण कर लेना यानि अपने आप को ब्रह्म में लीन कर देना अर्थात ब्रह्म में खो जाना. ॐ से ही सारे संसार की उत्पति हुई है और ॐ ही सारी स्रष्टि का पालनहार है. धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष ये चारों पुरुषार्थ हमें ॐ से ही मिले हैं।

ॐ का जाप बहुत अधिक महत्व रखता है। अनेक साधकों ने ॐ के जाप द्वारा अपने लक्ष्यों को प्राप्त किया है।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. दयानन्द शास्त्री के अनुसार गोपथ ब्रहामण ग्रंथ में बताया गया है की जो भी व्यक्ति कुश के आसन पर बैठ कर पूर्व दिशा की तरफ मुंह करके एक हजार बार ॐ का जाप करेगा उसके सभी काम आसानी से पूरे हो जाते हैं।

यह हैं “ॐ” के उच्चारण की विधि:-

सुबह उठकर नित्य कर्म से निवर्त हो जायें और उसके बाद ॐ का जाप करें. पद्मासन, अर्धपद्मासन, सुखासन और वज्रासन की अवस्था में बैठकर ॐ का उच्चारण करें. 5 से 21 बार ॐ का उच्चारण करे। ॐ का उच्चारण तेज बोलकर भी कर सकते हें और धीरे- धीरे बोलकर भी कर सकते हैं। माला द्वारा भी ॐ का जाप कर सकते हैं. ॐ का उच्चारण करने से बहुत अधिक शान्ति और उर्जा प्राप्त होती है. ॐ का उच्चारण करने से हमें कई शारीरिक लाभ मिलते हैं जैसे…

  • ॐ का उच्चारण करने से पूरे शरीर की थकान मिट जाती है।
  • ॐ का उच्चारण करने से तनाव मिट जाता है।
  • जब कभी भी हमें घबराहट महसूस होने लगे या उतावलापन महसूस होने लगे तो हमें ॐ का उच्चारण करने से बहुत लाभ मिलता है। तनाव के कारण हमारे शरीर में जो द्रव्य पैदा हो जाते हैं ॐ के जाप द्वारा वो सब नियंत्रित हो जाते हैं।

  • ॐ का जाप करने से हमारा ह्रदय सुचारू तरीके से कार्य करता है और खून के प्रवाह का संतुलन बना रहता है।
  • ॐ का उच्चारण करने से हमारी जो खाना पचाने की ताकत होती है वह और अधिक हो जाती है।
  • ॐ का जाप करने से हमें शक्ति व् स्फूर्ति प्राप्त होती है।

  • ॐ का जाप करने से हमारे शरीर की थकान एकदम से दूर हो जाती है।
  • अगर किसी को नींद ना आने की परेशानी हो तो ॐ का जाप करने से यह परेशानी कुछ ही दिनों में दूर हो जाती है. रात को जब सोने के लिए लेटें तो कुछ देर तक ॐ का जाप करें. ऐसा करने से बहुत अच्छी नींद आती है।

  • प्राणायाम के साथ ॐ का जाप करने से हमारे फेफड़े ताकतवर बनते है।
  • जब हम ॐ की पहले शब्द का उच्चारण करते हैं तो इससे हमारे शरीर में कंपन पैदा हो जाता है. इस कंपन से हमारी रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है और इसकी काम करने की शक्ति अधिक हो जाती है।
  • जब हम ॐ के दूसरे शब्द का उच्चारण करते हैं तो इससे हमारे गले में जो थाइराइड ग्रन्थि है उसको ताकत मिलती है।
  • – पं. दयानन्द शास्त्री, उज्जैन, मध्यप्रदेश 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है