Covid-19 Update

2, 84, 964
मामले (हिमाचल)
2, 80, 747
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,127,032
मामले (भारत)
524,096,444
मामले (दुनिया)

भारत ने रचा इतिहास, इंडोनेशिया को 3-0 से हराकर पहला थॉमस कप जीता

1952, 1955 और 1979 में थॉमस कप के सेमीफाइनल में पहुंची थी टीम

भारत ने रचा इतिहास, इंडोनेशिया को 3-0 से हराकर पहला थॉमस कप जीता

- Advertisement -

बैंकॉक। भारतीय बैडमिंटन टीम ने रविवार को यहां फाइनल में इतिहास रचते हुए इंडोनेशिया को 3-0 से हराकर अपना पहला थॉमस कप खिताब जीत लिया। लक्ष्य सेन की जीत, सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी-चिराग शेट्टी की युगल जोड़ी और पूर्व विश्व नंबर 1 किदांबी श्रीकांत ने भारत को कप जीतने में मदद की। थॉमस कप बैडमिंटन में सबसे प्रतिष्ठित खिताब है। भारतीय टीम पहले 1952, 1955 और 1979 में थॉमस कप के सेमीफाइनल में पहुंची थी, जबकि इंडोनेशिया टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे सफल देश रहा है, जिसके नाम 14 खिताब हैं।इस ऐतिहासिक दिन में लक्ष्य सेन ने एंथनी गिंटिंग को 8-21, 21-17, 21-16 से हराकर भारत को 1-0 से बढ़त दी।भारतीय स्टार ने शानदार खेल दिखाया, जिसमें इंडोनेशियाई संघर्ष करते दिखाई दिए, उन पर आखिरी तक दबाव बनाकर एक शानदार जीत हासिल की।इस बीच, दिन के दूसरे मैच में मोहम्मद अहसान और केविन संजय सुकामुल्जो की इंडोनेशियाई जोड़ी ने सही शुरुआत की और भारत के रंकीरेड्डी और शेट्टी के खिलाफ अपना पहला गेम 21-18 से जीत लिया।

यह भी पढ़ें:धर्मशाला ने जीती ट्राइंफ फुटबॉल चैंपियनशिप-2022, कुल्लू के रहे बेस्ट प्लेयर

भारतीय जोड़ी ने दूसरे गेम के शुरुआती चरण में नेतृत्व किया, लेकिन अहसान और सुकामुल्जो ने अपना कौशल दिखाया और पहले मैच के मौके का फायदा उठाया। हालांकि, रैंकीरेड्डी और शेट्टी ने हार मानने से इनकार करते हुए असाधारण प्रदर्शन के साथ अपनी वापसी की और आगे बढ़कर दूसरा गेम 23-21 से जीत लिया। निर्णायक गेम में भारतीयों ने जल्द ही बढ़त बनाई, लेकिन अहसान और सुकामुल्जो ने 11-11 से बराबरी की और बढ़त बना ली। इसके बाद भारतीय जोड़ी ने भी 17-17 से बराबरी कर ली। रंकीरेड्डी और शेट्टी को आखिरकार अपना पहला मैच पॉइंट मौका मिला और दुनिया की 8वें नंबर की जोड़ी ने भारत को 21-19 से जीत दिला दी। दिन के तीसरे मैच में किदांबी श्रीकांत का सामना जोनाथन क्रिस्टी से हुआ। भारतीय शटलर ने पूरे मैच में काफी अच्छा प्रदर्शन किया और शुरुआती गेम को 21-15 से जीत लिया। दूसरा गेम काफी करीबी रहा, लेकिन श्रीकांत ने अपने अनुभव का इस्तेमाल किया और क्रिस्टी को 23-21 से हराकर भारत के लिए खिताब पर मुहर लगा दी।

–आईएएनएस

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है