अबकी बार मेडल दोगुने करने उतरेगा भारत

अबकी बार मेडल दोगुने करने उतरेगा भारत

- Advertisement -

शनिवार सुबह चार साढ़े बजे होगी ओपनिंग

रियो डि जेनेरियो। ओलंपिक का महासमर शनिवार सुबह 4.30 बजे से शुरू हो जाएगा। इसी दिन शूटिंग, हॉकी समेत भारत के कई मुकाबले भी हैं। बीजिंग में भारत ने 3, लंदन में 6 मेडल जीते थे। इस बार 12 मेडल की उम्मीद की जा रही है। दूरदर्शन और स्टार स्पोर्ट्स पर ओलंपिक का लाइव टेलीकास्ट होगा। इस बार भारत के 119 खिलाड़ी 15 खेलों में हिस्सा ले रहे हैं।

  119 खिलाड़ी 15 खेलों में हिस्सा लेंगे
भारत का ओलंपिक में गया अब तक का यह सबसे बड़ा दल है। लंदन ओलंपिक  (2012) में 83 खिलाड़ी थे।
भारतीय दल में 56 महिला खिलाड़ी हैं। इनमें से 5 मेडल की दावेदार बताई जा रही हैं।
भारत के लिहाज से 6, 7, 8, 12, 13, 15, 17, 18, 19, 21 अगस्त अहम दिन हैं।
19 अगस्त को पता चलेगा कि नरसिंह यादव का जाना सही रहा या नहीं।
भारत को जिन गेम्स में पदक की आस है उनमें शूटिंग, तीरंदाजी, रेसलिंग, बॉक्सिंग, बैडमिंटन और टेनिस हैं।
परेड में भारत 95 वें नंबर पर है। भारत का तिरंगा अभिनव बिंद्रा (शूटिंग) थामेंगे।
इस दिन, इन खिलाड़ियों पर रहेगी नजर
13-14 अगस्त: 100 मीटर दौड़। यूसेन बोल्ट हारेंगे या नया रिकॉर्ड बनाएंगे।
9, 10 अगस्त: स्वीमिंग। संन्यास से लौटे माइकल फेल्प्स गोल्ड जीतेंगे या खाली हाथ लौटेंगे। फेल्प्स 18 गोल्ड समेत 22 मेडल जीत चुके हैं। ओलंपिक में ये किसी खिलाड़ी के सबसे ज्यादा गोल्ड हैं।
अमेरिका की 1000वें गोल्ड पर नजर
अमेरिका की होगी 1000वें गोल्ड पर नजर। 976 गोल्ड जीतकर है नंबर वन। भारत 51st नंबर पर है।
ओलंपिक के इनॉगरेशन पर 2.1 करोड़ डॉलर खर्च होंगे।
17 दिन तक इन 8 मुकाबलों पर दुनिया की नजर
1. 100 मीटर दौड़ : बोल्ट vs गैटलिन। वर्ल्ड चैंपियनिशप-2015 में बोल्ट ने 100 मी., 200 मी. रेस में गैटलिन को पीछे छोड़कर गोल्ड जीता। पिछले दो ओलंपिक में बोल्ट ने 100 मीटर, 200 मीटर और 4 गुणा 100 में स्वर्ण पदक जीता। ओलंपिक-2004 में 100 मी. में गैटलिन ने गोल्ड जीता था।
2. पुरुष बैडमिंटन : लिन डैन (चीन) और ली चोंग वेई (मलेशिया) के बीच 31 मुकाबले हुए। लिन डैन ने 22 जीते। दोनों बीजिंग और लंदन ओलंपिक फाइनल में आमने-सामने हुए। लिन डैन ही चैंपियन बने। ली चोंग वेई की रैंकिंग 1 है। डैन की 3।
3. पुरुष स्वीमिंग :फेल्प्स को चाड ली क्लोस चुनौती देंगे। साउथ अफ्रीका के क्लोस ने 2012 में 100 मीटर में फेल्प्स को पीछे छोड़कर गोल्ड जीता।
फेल्प्स ने 2012 ओलंपिक में 4 स्वर्ण जीते थे।
4. पुरुष टेनिस :2008 ओलंपिक में एंडी मरे पहले दौर में हारे। सर्बिया के नोवाक जोकोविच को कांस्य मिला। 2012 ओलंपिक में मरे ने सेमीफाइनल में जोकोविच को हराया। गोल्ड जीता। जोकोविच चौथे पर रहे। आपसी मुकाबलों में जोकोविचrio1 24, मरे 10 बार जीते।
5. पुरुष फुटबॉल : 5 बार वर्ल्ड चैंपियन रह चुका ब्राजील फुटबॉल में ओलंपिक में गोल्ड कभी भी नहीं जीत सका है। अर्जेंटीना ने 2004 और 2008 में लगातार दो बार गोल्ड पर कब्जा किया है। दोनों में 102 मैच हुए। ब्राजील 39, अर्जेंटीना 37 जीता।
6. महिला स्वीमिंग : 200 मी फ्रीस्टाइल के ट्रायल में लेडेकी ने मिसी को हराया। हालांकि दोनों ने क्वालिफाई किया। मिसी ने लंदन में चार गोल्ड जीते थे। जबकि लेडेकी सिर्फ एक ही गोल्ड जीत सकीं थीं। मिसी लेडेकी को हराकर विश्व चैंपियन बनीं थीं।
7. महिला बैडमिंटन : पिछले 4 ओलंपिक से चीन ने महिला सिंगल्स का गोल्ड जीता। लंदन में साइना ने ब्रॉन्ज जीता था। इस बार चीन की ओर से ली जुएरुई (वर्ल्ड नंबर 3) और यिहान वांग (वर्ल्ड नंबर 2) चुनौती पेश करेंगी। भारत की चुनौती साइना और पीवी सिंधु संभालेंगी।
8. ओवरऑल : सिडनी ओलंपिक-2000 से मेडल टेबल में पहले दो स्थान पर अमेरिका-चीन का कब्जा है। 2008 में चीन ने अमेरिका को पीछे छोड़ पहला स्थान पाया। 2012 में अमेरिका टॉप पर लौटा। एथलेटिक्स में अमेरिका, डाइविंग में चीन का दबदबा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है