Covid-19 Update

58,543
मामले (हिमाचल)
57,287
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,079,094
मामले (भारत)
113,988,846
मामले (दुनिया)

भारत-पाक जंग से एक हफ्ते में जाएंगी 2 करोड़ से ज्यादा जानें, आधी दुनिया होगी तबाह

भारत-पाक जंग से एक हफ्ते में जाएंगी 2 करोड़ से ज्यादा जानें, आधी दुनिया होगी तबाह

- Advertisement -

नई दिल्ली। फिलहाल जंग के मुहाने पर खड़े भारत और पाकिस्तान परमाणु युद्ध (Indo Pak atomic war) की ओर बढ़ जाते हैं तो एक हफ्ते में ही दुनिया की आधी आबादी तबाह हो जाएगी। करीब 2 करोड़ से ज्यादा जानें जाएंगी और अगले एक महीने में दो अरब लोग भूख से मर जाएंगे।

परमाणु सर्दी आगे की कई सदियों तक खेती को तबाह कर देगी। धरती पर सूर्य की किरणें नहीं पड़ेंगी तो मौसम भी नहीं बदलेगा और न ही पेड़-पौधे बचेंगे। जो लोग बच भी गए तो वे भी परमाणु विकिरण (Nuclear Radiation) से पैदा हुईं लाइलाज बीमारियों के चलते मर जाएंगे। ये आंकड़े 2013 में भौतिक वैज्ञानिकों के अंतर्राष्ट्रीय संगठन ने परमाणु युद्ध रोकने के लिए किए गए एक अध्ययन के बाद जारी किए थे।


यह भी पढ़ें:
जंग की तैयारी कर रहा है पाकिस्तान, भारत से लगे बॉर्डर पर सेनाओं की हलचल बढ़ी

दोनों देशों के पास 60 से ज्यादा परमाणु बम

भारत और पाकिस्तान के पास 60 से ज्यादा परमाणु बम हैं। हर बम हिरोशिमा (Hiroshima) पर गिराए गए 15 किलोटन वाले बम के बराबर हैं। ये बम जैसे ही गिरेंगे सबसे पहले इसकी गर्मी, तपिश और रेडिएशन लोगों को मारेगी। उसके बाद भी जो बच जाएंगे उनके लिए जीना इतना आसान नहीं होगा। भोपाल गैस त्रासदी (Bhopal Gas Tragedy) के 30 साल बाद आज तक तीसरी पीढ़ी भी बीमार पैदा हो रही है। वैज्ञानिकों की मानें तो इतने रेडिएशन से वायुमंडल में ओज़ोन परत बर्बाद हो जाएगी। आधी दुनिया में सर्दी-गर्मी के फिक्स मौसम का सिलसिला ही बंद हो जाएगा। ऐसे में बहुत मुमकिन है कि इस जंग के बाद ऐसी भयानक सर्दी पड़े कि दुनिया से वेजीटेशन यानी पेड़-पौधों का नामो-निशान ही मिट जाए।

 

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है