Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

आज भी शान से निकली नरसिंह की जलेब, सराज के देवी-देवता हुए शामिल

आज भी शान से निकली नरसिंह की जलेब, सराज के देवी-देवता हुए शामिल

- Advertisement -

कुल्लू। अंतरराष्ट्रीय दशहरा उत्सव के चौथे दिन भी भगवान नरसिंह की जलेब परंपरा अनुसार निकली। सराज घाटी के देवी-देवताओं ने शरीक होकर राजा की पालकी के साथ परिक्रमा की। इस अवसर पर महेश्वर सिंह पालकी में सवार हुए सबसे आगे घोड़ी और उसके पीछे तमाम देवी-देवताओं के साथ राजा की पालकी व दोनों ओर देवी देवताओं ने भाग लिया। पारंपरिक वाद्ययंत्रों की थाप पर देवताओं के साथ हजारों हारियान कुल्लवी नृत्य करते हुए झूमे। बता दें कि दशहरा उत्सव में हर रोज नरसिंह की इस भव्य जलेब को निकाला जाता है।

उत्सव में छह दिन तक निकाली जाती है जलेब

दशहरा उत्सव के चौथे दिन निकली जलेब में सैंज और बंजार घाटी के जम्दग्नि ऋषि, लक्ष्मी नारायण, माता कमला, बालू नाग, शेष नाग, करथा नाग आदि देवताओं ने ढोल नगाड़ों की थाप पर जलेब में भाग लिया। गौर रहे कि सात दिवसीय इस उत्सव में छह दिन तक इस जलेब को निकाला जाता है जिसमें जिला की विभिन्न घाटी के देवता बारी-बारी से भाग लेते हैं। राजा की चानणी से आरंभ होने वाली यह जलेब क्षेत्रीय अस्पताल से होकर करीब एक किमी मीटर की परिधि से होकर दशहरा में आए समस्त देवी देवताओं के अस्थाई शिविरों से होकर गुजरती है।


अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा: कुल्लवी नाटी प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

दशहरा उत्सव में कुल्लवी लोक नृत्य का आयोजन जा रहा है, जिसमें दो दर्जन स्थानीय ग्रामीण सांस्कृतिक दल भाग ले रहे हैं। इस बार जिला प्रशासन दशहरा उत्सव के दौरान हर दिन ग्रामीणों के मनोरंजन के लिए लोक नृत्य प्रतियोगिता करवा रहा है। इस प्रतियोगिता में प्रथम आने वाले को 51 हजार रुपए और द्वितीय स्थान पर आने पर 31 हजार का ईनाम दिया जाएगा। ऐतिहासिक लाल चंद प्रार्थी कलाकेंद्र में लोक नृत्य देखने के लिए लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला। कलाकेन्द्र में रंग-बिरंगे परिधानों से सज कर आए लोगों ने कुल्लवी नाटी का खूब मजा लिया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है