×

आचार्य ने देवी-देवताओं के नाम पर किए जाने वाले पाखंड पर जताई आपत्ति

आचार्य ने देवी-देवताओं के नाम पर किए जाने वाले पाखंड पर जताई आपत्ति

- Advertisement -

मंडी। बीती 25 फरवरी से जारी 7 दिवसीय अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव शुक्रवार को संपन्न हो गया। समापन मौके पर महामहिम राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। सर्वप्रथम उन्हें डीसी ऑफिस में परंपरागत पगड़ी पहनाई गई और उपरांत इसके राज्यपाल ने राज माधव राय मंदिर में जाकर विधिवत रूप से पूजा-अर्चना की। इस दौरान उनके साथ ग्रामीण विकास मंत्री अनिल शर्मा, सांसद राम स्वरूप शर्मा और बीजेपी विधायक जय राम ठाकुर सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे। राज माधव राय मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद राज्यपाल ने महोत्सव की अंतिम शोभायात्रा में शिरकत की।


  • बोले, देवी-देवताओं के अच्छे गुणों को सीखकर जीवन में अपनाना चाहिए
  • महामहिम राज्यपाल ने किया अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव का समापन

शहर भर की परिक्रमा करने के बाद यह शोभायात्रा ऐतिहासिक पड्डल मैदान में जाकर संपन्न हुई। इस मौके पर यहां उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने महोत्सव के सफल आयोजन के लिए जिला प्रशासन को बधाई दी। राज्यपाल ने कहा कि शिवरात्रि महोत्सव देवी देवताओं का महोत्सव है और जितने भी देवी देवता हैं, वह क्षत्रिय हैं। सभी देवी देवताओं की अपनी अपनी मान्यता है और लोगों का उनपर अटूट विश्वास है।

वहीं राज्यपाल ने देवी-देवताओं के नाम पर किए जाने वाले पाखंड पर भी कड़ी आपत्ति जाहिर की। राज्यपाल ने कहा कि कुछ लोग देवी-देवताओं के नाम पर पाखंड रचने का प्रयास करते हैं, जाकि गलत है। उन्होंने कहा कि देवी-देवताओं से हमें अच्छे गुणों को सीखकर उन्हें अपने जीवन में अपनाना चाहिए न कि उनका गलत इस्तेमाल करना चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है