Covid-19 Update

58,777
मामले (हिमाचल)
57,347
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,122,986
मामले (भारत)
114,822,832
मामले (दुनिया)

14 साल नौकरी करने के बाद भी नहीं मिली सरकारी सुविधाएं, चक्कर काट रही File

14 साल नौकरी करने के बाद भी नहीं मिली सरकारी सुविधाएं, चक्कर काट रही File

- Advertisement -

सुंदरनगर। 14 साल आईपीएच विभाग में बतौर बेलदार सेवाएं देने के बाद भी 90 फीसदी दिव्यांग मुलाजिम ब्रेस्तु राम को सरकारी सुविधाओं का लाभ आज दिन नहीं मिल पाया है। इस बात को लेकर ब्रेस्तु राम का परिवार वर्तमान में दाने-दाने को मोहताज होकर रह गया है। विभागीय लापरवाही का खामियाजा वर्तमान में ब्रेस्तु राम का परिवार भुगतने को मजबूर है ब्रेस्तु राम की पत्नी बगरी देवी की पत्थराई आंखों के आंसू भी गरीबी का बाट जोतते जोतते सूख गए हैं। लेकिन, सेवानिवृत्ति के 8 साल बीत जाने के बाद भी ब्रेस्तु राम के हाथ खाली के खाली ही है।

ट्रिब्यूनल ने तय सीमा अवधि में पेंशन समेत अन्य तमाम लाभ देने के दिए हैं आदेश

दरअसल सुंदरनगर उपमंडल के तहत आने वाली ग्राम पंचायत खिलड़ा के गांव मंगलाह डाकघर मैरामसीत के ब्रेस्तु राम ने आईपीएच विभाग के कुल्लु जिला से अपनी सेवाएं बतौर बेलदार देने शुरू की थी। 10 साल कुल्लू और उसके बाद चार साल सुंदरनगर आईपीएच डिविजन में सेवाएं दी। 60 साल की उमर में ब्रेस्तु राम को बिना पेंशन समेत अन्य वित्तीय लाभ दिए बिना ही विभाग ने सेवानिवृत्त कर दिया। ऊपर से 90 फीसदी शारीरिक तौर से दिव्यांग ब्रेस्तु राम जोकि दोनों टांगों से अक्षम है, चलने फिरने में असमर्थ है। कृत्रिम टांगें लगाकर अपनी जिदंगी के पल जैसे तैसे जी रहे हैं। लेकिन विभाग के बार-बार चक्कर काटने के बादजूद भी उसके नाम की फाइल पिछले 8 सालों से कभी एक टेबल पर तो कभी दूसरे टेबल पर घूम कर मात्र चक्कर ही लगा रही है।

ब्रेस्तु राम की कहानी यहां तक ही समाप्त नहीं होती है। ट्रिब्यूनल का दरवाजा खटखटाने पर विभाग को तय सीमा अवधि में पेंशन समेत अन्य तमाम  लाभ देने के आदेश हुए हैं। लेकिन धरातल पर विभाग ने ट्रिब्यूनल के आदेशों को भी ताक पर रख दिया है।

उधर, आईपीएच विभाग मंडल सुंदरनगर के अधीशाषी अभियंता उदय कुमार बोध का कहना है कि ब्रेस्तु राम के साथ विभाग को पूरी सहानुभूति है, लेकिन विभाग ने केस सरकार को भेजा है। बेलदार का पद सृजित होते ही ब्रेस्तु राम को तमाम लाभ तय समय सीमा से मुहैया करवा दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें : जल्दबाजी : आधी-अधूरी तैयार HRTC Workshop का कर दिया उद्घाटन

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है