Covid-19 Update

1,99,252
मामले (हिमाचल)
1,92,229
मरीज ठीक हुए
3,395
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,469,183
मामले (दुनिया)
×

देखें वीडियोः महेंद्र ठाकुर की क्लास में एक्सईएन को लताड़, कार्रवाई को चेताया

देखें वीडियोः महेंद्र ठाकुर की क्लास में एक्सईएन को लताड़, कार्रवाई को चेताया

- Advertisement -

मंडी। सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र के भद्रोता में 7वें जनमंच के दौरान बिजली बोर्ड से संबंधिक अधिक शिकायतें आने पर आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर भड़क गए। उन्होंने बिजली बोर्ड के एक्सईएन की जमकर क्लास लगा दी। उन्होंने कहा कि आपको मंडी में भी कहा था कि आप ऑफिस में कुर्सी से चिपके रहते हैं। इसी के चलते एक छोटे से क्षेत्र से इतनी शिकायतें आ रहीं हैं।

उन्होंने कहा कि आपके खिलाफ कोई न कोई एक्शन लेना पड़ेगा। लाइन को शिफ्ट करने की शिकायत पर आईपीएच मंत्री ने एक्सईएन से पूछा कि इसे कितने दिन में शिफ्ट करोगे। इस पर एक्शन ने कहा कि इसमें जगह की समस्या आ रही है। अगर जगह की समस्या हल हो जाती है तो सात दिन के अंदर लाइन को शिफ्ट कर दिया जाएगा। बात यहीं नहीं रुकी एक उपभोक्ता का बिजली बिल ज्यादा आना और बाद में उसे कम करने के मामले में भी मंत्री ने एक्सईएन को लताड़ लगाई।


6 हजार से घटकर 1400 रुपए हुआ बिल

बता दें कि रखोटा में प्री जनमंच में रखोटा गांव निवासी रूप लाल ने बिजली विभाग की शिकायत की थी। शिकायत में कहा गया कि उसका बिजली का बिल हर महीने 6 हजार रुपए आ रहा है और विभाग इसपर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। प्री जनमंच में ही शिकायत का निवारण हो गया और विभाग ने 6 हजार के बिजली बिल को घटाकर 1400 रुपए कर दिया।

शिकायतकर्ता रूप लाल को जनमंच में अपनी यह बात रखने का जब मौका मिला तो पहले मंत्री यह जानकर गदगद हुए कि जनमंच के कारण एक उपभोक्ता को न्याय मिला, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने बिजली विभाग के अधिशाषी अभियंता की जमकर क्लास लगाई। मंत्री ने पूछा कि एक बिल तो कम कर दिया, लेकिन जो पिछले बिल थे उनका क्या किया। इस पर अधिकारी यही जवाब देते रहे कि मीटर बदल दिया है। सही जवाब न मिलने पर मंत्री को गुस्सा आ गया और अधिकारी को लताड़ लगाते हुए बदले गए मीटर को आबर्जवेशन पर रखकर पिछले सभी बिलों को एडजस्ट करने के निर्देश दिए।

एचआरटीसी के डीएम नहीं थे मौके पर मौजूद

इसके बाद एचआरटीसी के अधिकारियों को भी मंत्री ने जमकर लताड़ लगाई। बस सेवा को लेकर एक शिकायत आई जिसपर मंत्री ने एचआरटीसी के डीएम से जवाब मांगा, लेकिन अधिकारी महोदय मौके पर मौजूद ही नहीं थे। मंत्री ने कहा कि अधिकारी यहां घूमने के लिए आते हैं या जनसमस्याओं के निपटारे के लिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी जनमंच में बैठना सुनिश्चित करें।

साथ ही उन्होंने पूर्व में रही धूमल सरकार के समय पर शुरू किए गए बस रूटों को दोबारा से बहाल करने के निर्देश भी दिए। इसके साथ ही लोक निर्माण, आईपीएच और कृषि विभाग सहित खाद्य आपूर्ति निगम के अधिकारियों को भी मंत्री की फटकार का सामना करना पड़ा। मंत्री ने सरकाघाट के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे फील्ड में जाना सुनिश्चित करें और अपना टूअर प्रोग्राम एसडीएम को भेजें। वहीं, एसडीएम को कहा गया कि फिल्ड में जाकर अधिकारियों के कार्यों का औचक निरीक्षण करें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है