×

ISI जासूसी : कांग्रेस का आरोप, 2 एजेंट्स के BJP से रिश्ते

ISI जासूसी : कांग्रेस का आरोप, 2 एजेंट्स के BJP से रिश्ते

- Advertisement -

भोपाल । मध्य प्रदेश में पाकिस्तान के लिये जासूसी करने के आरोप में पिछले 3 दिनों में गिरफ्तार किये गये 11 युवकों को लेकर BJP और कांग्रेस आमने-सामने आ गये हैं। गिरफ्तार किये गये दो युवकों का संबंध कथित तौर पर BJP से बताया जा रहा है। कांग्रेस ने इसी को लेकर BJP पर आरोप लगाया है। अब BJP कह रही है कि आतंकवादी का कोई धर्म, जाति या पार्टी नही होती है, देश सर्वोपरि है। इस बीच अदालत ने सभी 11 आरोपियों को 14 फरवरी तक के लिये पुलिस रिमांड में भेज दिया है। मध्यप्रदेश ATS ने जम्मू-कश्मीर पुलिस और उत्तर प्रदेश पुलिस से मिली जानकारी के आधार पर ग्वालियर, भोपाल, जबलपुर और सतना से 11 लोगों को गिरफ्तार किया था। इनके पास से जासूसी के तमाम उपकरण, हजारों मोबाइल सिम और एक टेलीफोन एक्सचेंज बरामद किया गया है। ATS सूत्रों के मुताबिक प्राथमिक जांच में इन लोगों द्वारा बड़े पैमाने पर आर्थिक लेन-देन किये जाने की भी जानकारी मिली है। मध्य प्रदेश में इनका सरगना सतना का रहने वाला बलराम है। उसने स्वीकार कर लिया है कि उसे पाकिस्तान से मदद मिली है। पकड़े गये 11 युवको में 2 ग्वालियर के जितेन्द्र और भोपाल के ध्रुव सक्सेना के तार कथित तौर पर BJP से जुड़े हुए हैं। बताया जा रहा है कि जितेन्द्र के भाई की पत्नी ग्वालियर में पार्षद हैं जबकि ध्रुव भोपाल में BJP के आईटी सेल से जुड़ा रहा है। इन दोनों को लेकर ही कांग्रेस ने BJP पर सवाल उठाया है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने जहां ट्वीट करके कहा है कि मध्यप्रदेश में पकड़े गये ISI एजेंटों में एक भी मुसलमान नही है। उसमें BJP का एक सदस्य है। जासूसी के आरोप में पकड़े गये युवकों की BJP से नजदीकी पर कांग्रेस ने शुक्रवार को भोपाल में प्रदर्शन किया। साथ ही प्रदेश कांग्रस ने अब इस मामले की जांच CBI से कराने की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि जो खुलासा हुआ है उससे यह स्पष्ट है कि पकड़े गये लोग पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI को सेना से जुड़ी सूचनाएं बेच रहे थे। इनके तार पाकिस्तान, अफगानिस्तान तथा अमेरिका से जुड़े हुए है। यह गंभीर मामला है, इसे तत्काल CBI को सौंपा जाये।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है