Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

20 साल की Medical Student बनी ISIS की Suicide Bomber

20 साल की Medical Student बनी ISIS की Suicide Bomber

- Advertisement -

isis female suicide bomber : इस्लामाबाद। आतंकी संगठन ISIS अपना जाल युवाओं पर किस कदर बिछा रहा है, इसका ताजा उदाहरण देखने को मिला पाकिस्तान में। जहां 2 महीने पहले घर से गायब हुई एक 20 साल की लड़की जब मिली तो वह आत्मघाती बम बन चुकी थी। इस लड़की की पहचान नौरीन जबर लेघारी (20) के रुप में हुई है। शनिवार को लाहौर में आतंकियों पर की गई कार्रवाई के दौरान नौरीन को पकड़ा गया। गिरफ्तारी के बाद नौरीन ने जो खुलासे किए उससे हर किसी के दिल में खौफ पैदा हो गया। नौरीन ने बताया कि, उसका पूरा नाम नौरीन जबर लेघारी है और वह हैदराबाद से ताल्लुक रखती है। नौरीन लियाकत मेडिकल यूनिवर्सिटी में सेकेंड ईयर की स्टूडेंट है और उसके पिता अब्दुल जब्बार, युनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं।

नौरीन का कहना है कि उसे किसी ने अगवा नहीं किया बल्कि वह खुद लाहौर आई थी। नौरीन के कहा कि उसके साथ अब्बू फौजी नाम का लड़का था, जो उसके साथ कार्रवाइयों में शामिल था। इनके लिए अप्रैल में ही तंजीम ने सामान मुहैया कराया था। इसमें 2 जैकेट और 4 हैंड ग्रेनेड और गोलियां थीं’। ‘इन जैकेट का इस्तेमाल ईस्टर के दिन किसी चर्च में किया जाना था। नौरीन ने आगे कहा कि, इसके लिए मुझे इस्तेमाल किया जाना था। लेकिन इससे पहले ही 14 अप्रैल की रात को सुरक्षा एजेंसियों ने हमारे घर पर छापा मार दिया। मैं पकड़ी गई।


isis female suicide bomber : नौरीन ने कहा, मैं खिलाफत की सरमजीं में हिजरत करके पहुंच चुकी हूं

नौरीन के बारे में अबतक मिली जानकारी के अनुसार वह इंटरनेट पर तारिक नामक आतंकी के संपर्क में थी, जिसने उसका ब्रेनवॉश कर उसे आतंकतवाद की तरफ धकेला। वह अचानक बुर्का पहनने लगी और पांचों वक्त नमाज पढ़ने लगी। उसके बर्ताव में इस बदलाव की खबर उसके घरवालों को भी दी गई, लेकिन, घरवालों को यकीन नहीं हुआ। नौरीन के बगदादी की सेना में शामिल होने का खुलासा उस वक्त हुआ जब नौरीन ने नाम से तारिक नामक आतंकी के फेसबुक प्रोफाइल पर पिछले महीने एक संदेश मिला। इसमें कहा गया था कि वह खलीफ की सरजमीं पर पहुंच गई है।

नौरीन को तारिक नामक आतंकी ने हथियार चलाना सिखाया और बम धमाके के टिप्स दिए। अपने फेसबुक मैसेज में नौरीन ने लिखा था, ‘भाई मैं नौरीन हूं। उम्मीद है आप सब खैरियत से होंगे। मैं भी खैरियत से हूं। मैं आपको मैसेज यह बताने कि लिए किया है कि मैं अल्लाह के फजल से खिलाफत की सरमजीं में हिजरत करके पहुंच चुकी हूं। अल्लाह से उम्मीद करती हूं कि आप लोग भी कभी ना कभी जरूर हिजरत करेंगे। इंशाअल्लाह’। ‘बताया जा रहा है कि करीब दो महीने सीरिया में गुजारने के बाद आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए वह छह दिन पहले ही लाहौर आई थी। इस सारे मामले पर जानकारी पाकिस्तान की इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के डीजी आसिफ गफूर ने दी।

यह भी पढ़ें : पत्थरबाजी की घटनाएं बढ़ीं, घाटी में School-College बंद

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है