Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

पैदल चलकर प्रदूषण की समस्या से निपटेगी जयराम सरकार, करेगी यह काम

पैदल चलकर प्रदूषण की समस्या से निपटेगी जयराम सरकार, करेगी यह काम

- Advertisement -

रविंद्र चौधरी/धर्मशाला। जयराम सरकार पैदल चल कर प्रदूषण जैसी समस्या से निपटेगी। जी हां यह हम नहीं कह रहे बल्कि यह कहना है, वनमंत्री गोविंद ठाकुर (Forest Minister Govind Thakur) का। विधायक विक्रमादित्य सिंह (MLA Vikramaditya Singh) के नियम 62 के तहत सदन में लाए ध्यानाकर्षण प्रस्ताव का जवाब देते हुए वनमंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा कि गाड़ियों का कम प्रयोग कर इस समस्या से काफी हद तक निपटा जा सकता है। हम खुद भी अपनी गाड़ियों का कम से कम प्रयोग करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। कार्यक्रमों में गाड़ियों में न जाकर पैदल जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले हमें उदाहरण पेश करना होगा, तभी बाकी लोग ऐसा करेंगे। विक्रमादित्य सिंह ने बढ़ते प्रदूषण और कार पुलिंग पर चर्चा को लेकर यह ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लाए थे। उन्होंने जंगलों में आग और बढ़ती ट्रैफिक समस्या संबंधीर मामला उठाया।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

उन्होंने चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि हिमाचल का क्षेत्रफल 55673 वर्ग किलोमीटर है। 67 हज़ार वर्ग किलोमीटर में वन क्षेत्र है। 20 फीसदी इलाके में बर्फ ही पड़ी रहती है। साल 2005 में टू-व्हीलर (Two wheeler) 5 हजार 523 थे और फोर व्हीलर 10 हजार 73 थे। अब 59 हजार से भी ज़्यादा टू-व्हीलर (Two wheeler) हो गए हैं, जबकि साढ़े 5 लाख के करीब फोर-व्हीलर वाहन हो गए हैं। वहीं, 38 सौ गाड़ियां सरकारी हैं।


इससे प्रदूषण निश्चित तौर पर बढ़ रहा है। हालांकि सरकारी स्तर पर इसका प्रभाव 0.42 फीसदी ही है। विदेश-देश के पर्यटकों के आने से ये समस्या और बढ़ जाती है। इसको देखते हुए सचिवालय के लिए इलेक्ट्रिक बसें चलाई गई हैं। डॉक्टर्स यूनियनों ने भी इलेक्ट्रिक बसों (Electric Buses) की मांग की है। सरकारी क्षेत्र में बदलाव हो रहा है। सरकारी कर्मचारी प्रदूषण रोकने के लिए आगे आ रहे हैं। रोप वे और इलेक्ट्रिक रैपिड सिस्टम यूनिट का भी गठन किया है। इस सिस्टम के तहत भी प्रदेश में ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा दिया जाएगा, ताकि प्रदूषण को और ज्यादा मात्रा में कम किया जा सके।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है