Covid-19 Update

2,01,054
मामले (हिमाचल)
1,95,598
मरीज ठीक हुए
3,446
मौत
30,082,778
मामले (भारत)
180,423,381
मामले (दुनिया)
×

‘प्रधान, आशा वर्कर-Health Worker बाहर से आने वाले लोगों के पहुंचने से पहले उनके घर पहुंचे’ 

‘प्रधान, आशा वर्कर-Health Worker बाहर से आने वाले लोगों के पहुंचने से पहले उनके घर पहुंचे’ 

- Advertisement -

शिमला। सीएम जय राम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने कहा है कि ऐसा प्रयास होना चाहिए कि पंचायत प्रधान, आशा वर्कर और अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ता (Health worker) बाहर से आने वाले लोगों के पहुंचने से पहले उनके घर पहुंचे, ताकि ऐसे लोगों के परिवार के सदस्यों को परिवार के मध्य भी सामाजिक दूरी रखने के बारे जागरूक किया जा सके। साथ ही पंचायती राज संस्थाओं के निर्वाचित प्रतिनिधियों को अपने-अपने पंचायतों में विभिन्न विकासात्मक गतिविधियों को शुरू करने के लिए आगे आना चाहिए।
उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत काम में तेजी लाई जानी चाहिए और साथ ही यह सुनिश्चित करना होगा कि उचित सामाजिक दूरी के नियमों का पालन किया जाए। जय राम ठाकुर आज जिला हमीरपुर और ऊना के जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य और विभिन्न ग्राम पंचायत प्रधानों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video conferencing) के माध्यम से संबोधित कर रहे थे।

सीटी बजाकर घर के बाहर बुला रहे

सीएम जयराम ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए लगभग एक लाख हिमाचलवासी वापिस आए हैं और अगले कुछ दिनों में लगभग 55 हजार और लोगों के वापस आने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग रेड और ऑरेंज जोन से आ रहे हैं। इसलिए यह जरूरी है कि उचित स्वास्थ्य जांच हो और उन्हें क्वारन्टीन में रखा जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों पर नजर रखने के लिए निगाह कार्यक्रम शुरू किया है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य कोरोना संक्रमण से बचने के लिए उचित प्रोटोकाॅल अपनाने के लिए राज्य के लोगों को जागरूक करना है।

यह भी पढ़ें: Police Constable के कोरोना पॉजिटिव आने पर पंचरूखी थाने के बाद अब पुलिस आवास भी सील 

जय राम ठाकुर ने कहा कि पंचायत प्रधानों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे देश के अन्य हिस्सों से अपने क्षेत्रों में पहुंचने वाले लोगों पर नजर रखें। इसी बीच,कांगडा जिला (Distt Kangra) के प्राथामिक स्वास्थ्य केंद्र घीन में बीएमओ डाॅ संजय भारद्वाज की सोच के अनुरूप आशा वर्कर और अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ता किसी भी घर में सर्वे के दौरान परिवार के सदस्यों को सीटी बजाकर बाहर बुला रहें है। इससे दरवाजा खटखटाने की जरूरत नहीं पडती है। यानी कहीं भी हाथ लगाने से बचा जा रहा है। 


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है