Covid-19 Update

2,00,085
मामले (हिमाचल)
1,93,830
मरीज ठीक हुए
3,418
मौत
29,823,546
मामले (भारत)
178,657,875
मामले (दुनिया)
×

Jai Ram का ऐलान- ऐसा करने वाले Teacher होंगे सम्मानित, सरकार कर रही विचार

Jai Ram का ऐलान- ऐसा करने वाले Teacher होंगे सम्मानित, सरकार कर रही विचार

- Advertisement -

शिमला। जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार शैक्षणिक कार्यक्रम के लिए श्रेष्ठ शैक्षणिक विषय वस्तु विकसित करने के लिए अध्यापकों को सम्मानित करने तथा पाठशालाओं में इन कार्यक्रमों के प्रभावी कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के बारे में भी विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि महत्वपूर्ण विषयों पर विद्यार्थियों के लिए श्रेष्ठ विषय वस्तु उपलब्ध करवाने तथा पहली से 12वीं कक्षा तक कवरेज सुनिश्चित करने पर बल दिया जाना चाहिए। प्रदेश सरकार ने राज्य में कोरोना महामारी के दृष्टिगत लगाए गए कर्फ्यू के दौरान विद्यार्थियों के लिए घर पर अध्यापन सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए ‘हर घर पाठशाला’ कार्यक्रम आंरभ किया है, ताकि विद्यार्थियों की शिक्षा जारी रहे।

यह भी पढ़ें: Syllabus में होगी कटौती या सत्र होगा कम, क्या बोले शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज-जानिए

सीएम जयराम ठाकुर ने आज यहां शिक्षा विभाग की बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी। सीएम ने कहा कि इस कार्यक्रम के तहत अधिक से अधिक विद्यार्थियों को विभिन्न कार्यक्रमों का उपयोग कर शिक्षा प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि दूरदर्शन शिमला पर प्रतिदिन 10वीं तथा 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए तीन घंटे के कार्यक्रम के अतिरिक्त व्हाट्सएप तथा केंद्रीकृत वेबसाइट के माध्यम से अध्यापकों द्वारा ऑनलाइन कक्षाएं आयोजित करवाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि आकाशवाणी के माध्यम से अधिकतम विद्यार्थियों को सुविधा प्रदान करने के लिए अध्यापन मॉड्यूल आरंभ करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।


यह भी पढ़ें: दिल्ली में फंसे हिमाचली घर वापसी के लिए ऐसे करें ऑनलाइन पास को Apply

सीएम ने कहा कि लॉकडाउन के कारण 12वीं कक्षा के जिन व्यवसायिक विषयों की परीक्षाएं आयोजित नहीं हो पाई हैं, विद्यार्थियों को उन विषयों में अंक प्रदान करने के लिए एक प्रभावी तथा स्वीकार्य प्रणाली विकसित की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए एक विश्वसनीय प्रणाली विकसित हो। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग को प्रभावी एग्जिट योजना तैयार करनी चाहिए, ताकि शैक्षणिक संस्थानों की कार्य पद्धति को जितनी जल्दी हो सके सामान्य बनाया जा सके। जयराम ठाकुर ने कहा कि विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान ना हो, इसलिए विद्यालयों तथा कॉलेजों के शैक्षणिक तथा खेल कलेंडरों को दोबारा सुनियोजित किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: Curfew में ढील मिली तो बिना Mask घूमते नजर आए युवा, पुलिस ने टी-शर्ट उतरवाई

उन्होंने कहा कि स्कूल शिक्षा बोर्ड को समय पर उत्तर पुस्तिकाओं के मुल्यांकन के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने चाहिए। सीएम ने कहा कि विभाग को वर्ष 2020-21 के बजट में उनके द्वारा घोषित की गई नई योजनाओं पर भी कार्य आरंभ करना चाहिए। सचिव शिक्षा अक्षय सूद ने सीएम का स्वागत किया तथा विद्यार्थियों की सुविधा के लिए हर घर पाठशाला कार्यक्रम की अधिक से अधिक कवरेज सुनिश्चित बनाने के लिए विभाग द्वारा उठाए जा रहे विभिन्न पहलों के बारे विस्तृत जानकारी दी। विशेष सचिव शिक्षा हेम राज बैरवा ने इस अवसर पर प्रस्तुति प्रस्तुत की। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड धर्मशाला के अध्यक्ष डॉ. सुरेश सोनी, हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर सिकन्दर कुमार, निदेशक उच्च शिक्षा डॉ. अमरजीत शर्मा, निदेशक प्रारंभिक शिक्षा रोहित जम्वाल तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है