Covid-19 Update

2,27,684
मामले (हिमाचल)
2,23,093
मरीज ठीक हुए
3,838
मौत
34,656,822
मामले (भारत)
267,534,822
मामले (दुनिया)

मंडी शिवरात्रि : जालपा के रथ में लगी पौराणिक वस्तुओं और गहनों में झलकता है इतिहास

रथ में लगी चांदी की चादर, पुराने मोहरे, माला, छत्र करीब 3 शताब्दी पुराने

मंडी शिवरात्रि : जालपा के रथ में लगी पौराणिक वस्तुओं और गहनों में झलकता है इतिहास

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) देव भूमि है और यहां के देवताओं और रियासतकालीन राजाओं में गहरा संबंध है। इसी बात का परिचायक मंडी का शिवरात्रि महोत्सव (Mandi Shivaratri Festival) है जहां पर आने वाले सभी देवताओं की एक अपनी परंपरा और पौराणिकता हैं। मंडी शिवरात्रि में शिरकत करने वाली एक ऐसी भी देवी हैं जिनकी साज-सजावट अभी भी पुरानी परंपराओं के अनुसार की जाती है। मंडी जिला के सनोर क्षेत्र की देवी जालपा के रथ को लगने वाली अधिकतर वस्तुऐं पुरातन काल की हैं। देवी जालपा (Devi Jalpa) के रथ में लगने वाली चांदी की चादरए पुराने मोहरेए मालाए छत्र आदि करीब 3 शताब्दी पुराने हैं। माता की मालाओं में रियासत काल के राजाओ के सिक्के लगे हैं जो भी 250 वर्षों से भी पुराने हैं। इसके साथ ही माता का पुरांदा व कपड़े का प्रारूप भी प्राचीन समय के अनुसार ही है।

यह भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव में वाद्ययंत्र प्रतियोगिता का आगाज, देवलू- बजंतरी लेंगे हिस्सा

जालपा माता सनोर बालू के भंडारी पूर्णचंद बतातें हैं कि वे लगभग बीते 50 वर्षों से माता की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि माता का श्रृगांर पुरातन परंपराओं के अनुसार आज भी किया जा रहा है। जिससे संस्कृति को आने वाले समय में भी कायम रखा जा सके। उन्होंने यह भी बताया कि माता के आदेशानुसार रथ में लगी वस्तुओं को बदलने की मनाही है जिसके चलते माता का स्वरूप जिस प्रकार प्राचीन समय में था वर्तमान में भी उसी रूप में सहेजा गया है। पूर्णचंद ने जोर देते हुए कहा कि हमारी देव संस्कृति और उसकी परंपरा में कोई बदलाव नहीं लाना चाहिए। वहीं, सनोर घाटी के युवा भी देव संस्कृति और परंपराओं के संवर्धन करने में काफी रूची दिखा रहे हैं। युवा नरेश का कहना है कि हिमाचल की संस्कृति को बचाना और आगे ले जाना युवाओं का कार्य है जिसमें युवा भी आगे आ रहे हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है