Covid-19 Update

59,118
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,228,288
मामले (भारत)
117,215,435
मामले (दुनिया)

69 वें दिन अनशन खत्म, नायब तहसीलदार ने जूस पिला तुड़वाया

69 वें दिन अनशन खत्म, नायब तहसीलदार ने जूस पिला तुड़वाया

- Advertisement -

चुवाड़ी। मांगों को लेकर चल रहा जनएकता जनाधिकार मंच भटियात का आमरण अनशन खत्म हो गया है। नायब तहसीलदार विनोद टंडन ने सरकार की तरफ से आश्वासन दिया कि मूलभूत मांगों को जल्द पूरा किया जाएगा। इस के बाद आंदोलनकारियों ने अनशन खत्म करने का निर्णय लिया। नायब तहसीलदार विनोद टंडन ने जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया। बता दें कि एक तरफ धर्मशाला में सरकार एक साल का जश्न मना रही थी तो चंबा जिले के भटियात क्षेत्र में लोग मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ गुरुवार को सड़क पर उतर आए। मांगों को लेकर चल रही हड़ताल 69 वें दिन में प्रवेश कर गई है और दो युवाओं का आमरण अनशन गुरुवार को छठे दिन में पहुंच गया है।

बता दें कि जन एकता-जनाधिकार मंच भटियात ने क्षेत्र से जुड़ी मांगों को लेकर 20 अक्टूबर से चुवाड़ी स्थित एसडीएम ऑफिस के बाहर 24 घंटे की क्रमिक भूख हड़ताल आरंभ की थी। बावजूद इसके प्रशासन और सरकार की ओर से मांगों पर बातचीत के लिए पहल न होने पर मंच ने बाद में 48 घंटे की क्रमिक भूख-हडताल आरंभ की, जिसके बाद 22 दिसंबर को मंच के संयोजक निर्मल पांडे और सह संयोजक डिंपल शर्मा ने मांगों को मनवाने को लेकर आमरण अनशन शुरू कर दिया। उधर, मंच से जुड़ी पूर्व जिला परिषद सदस्य सुदेश ठाकुर ने कहा कि आज जनएकता मंच द्वारा रैली का आयोजन किया गया है। कहा कि जनमांगों को लेकर आंदोलन बीस अक्तूबर को आरंभ किया गया था। 24 और 48 घंटों की क्रमिक भूख हड़ताल के बाद 22 दिसंबर से आमरण अनशन शुरू हुआ है।

यह है मांगें

जनएकता जन अधिकार मंच की मांगों में अस्पताल में डॉक्टरों के रिक्त पद भरने जिसमें शिशु रोग विशेषज्ञ व् स्त्री रोग विशेषज्ञ शामिल है। मंच मांग करता है कि आहला से रखेड़- धामग्राम ,फोगला से बनोई भराड़ी से टुआली आदि गांव के लिए सड़क का निर्माण किया जाए व जिन गांव के लिए सड़क कच्ची सड़क बनाई गई है, उन्हें पक्का किया जाना चाहिए, जिनमें सरना, सलोह, गाहर घटु से लनोह आदि सड़कें मुख्य हैं। कालीघार जो सबसे बड़ी समस्या बन चुकी का स्थायी विकल्प त्रिमथ जंगला सड़क को बनाया जाना चाहिए। साथ ही साथ चुवाड़ी सब डिपो जिसका 2002 में उद्घाटन किया गया है को सुचारू रूप से चलाया जाए। इसके अलावा अन्य कई मांगों भी मंच द्वारा उठाई गई हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है