Covid-19 Update

59,014
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,190,651
मामले (भारत)
116,428,617
मामले (दुनिया)

Jai Ram की Janjehli गुस्से में नहीं मनाएगी Shivratri, बर्फबारी में भी जुटने लगे लोग

Jai Ram की Janjehli गुस्से में नहीं मनाएगी Shivratri, बर्फबारी में भी जुटने लगे लोग

- Advertisement -

संजीव कुमार/गोहर। सीएम जयराम ठाकुर की जंजैहली गुस्से में है। स्थानीय बाशिंदों में एसडीएम ऑफिस खोने का गुस्सा इस कदर है कि वह इस मर्तबा शिवरात्रि पर्व भी नहीं मनाएंगे। यही नहीं बर्फबारी के बीच भी लोगों का गुस्सा ठंडा नहीं हो रहा है, वह आगे करना क्या है इसके लिए रणनीति बनाने जा रहे हैं। जंजैहली में इस वक्त लोग जुटना शुरू हो गए हैं।उनका कहना है कि विरोध-प्रदर्शन जारी रहेंगे, इसके लिए किसी भी हद तक क्यों न जाना पड़े। इससे पहले सोमवार को सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर एसडीएम ऑफिस थुनाग में खोलने के साथ ही जंजैहली को मात्र चार दिन दिए हैं। इन चार दिनों में थुनाग के एसडीएम यहां बैठा करेंगे। यह सब जंजैहली के बाशिंदों को मंजूर नहीं है। आज प्रदर्शन इसलिए नहीं हो पा रहा है चूंकि जंजैहली में बर्फ गिरी हुई है।

जंजैहली संघर्ष समिति के अध्यक्ष नरेंद्र रेड्डी ने बताया कि जब तक एसडीएम ऑफिस जंजैहली को नहीं मिलता हम संघर्ष जारी रखेंगे, इसके लिए चाहे सुप्रीम कोर्ट क्यों न जाना पड़े। उनका कहना है कि जंजैहली की जनता सब जानती है ये सारा खेल सीएम जयराम ठाकुर का है, इसका खामियाजा भी उन्हें ही भुगतना होगा। रेड्डी ने बताया कि बर्फ़बारी होने से आज जंजैहली में हम एक शांतिपूर्ण ढंग से एक बैठक कर आगे की रणनीति तैयार करेंगे। उनका कहना है कि बीते कल प्रदेश सरकार ने जंजैहली घाटी में धारा 144 लगवाकर कश्मीर बना डाला। उधर, सिराज के नेता जगदीश रेड्डी ने सीएम जयराम ठाकुर के बयान (जंजैहली में मात्र पुराने टायर जलाए गए हैं वह भी ठंड से बचने के लिए) पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जयराम क्या चाहते हैं कि पूरे जंजैहली में बस और कारों को आग के हवाले कर दें।

Jai Ram के Thunag को मिला SDM Office ,चार-चार दिन Janjehli-बालीचौकी में भी बैठेंगे

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है