Covid-19 Update

2,00,791
मामले (हिमाचल)
1,95,055
मरीज ठीक हुए
3,437
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

‘जटायु नेचर पार्क’ : य़हां है जटायु की सबसे बड़ी मूर्ति

‘जटायु नेचर पार्क’ : य़हां है जटायु की सबसे बड़ी मूर्ति

- Advertisement -

बात केरल की आती है तो दक्षिण भारत के इस प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर राज्य की छवि आंखों के सामने घूम जाती है। आज हम आप को बताते हैं यहां के एक नेचर पार्क के बारे में। कोल्लम जिला के चदयामंगलम गांव में ‘जटायु नेचर पार्क’ के नाम से बने इस पार्क की खास बात यह है कि इसमें जटायु का दुनिया का सबसे बड़ी और खूबसूरत मूर्ति बनाई गई है।

65 एकड़ में फैले इस पार्क में रोमांच और मनोरंजन को बड़ी कलात्मकता और खूबसूरती से समायोजित किया गया है। जटायु नेचर पार्क के नाम से बना यह मानव-निर्मित एक अद्भुत प्राकृतिक पार्क है, जिसका उद्देश्य प्राकृतिक सहजीवन के साथ-साथ पर्यटन को बढ़ावा देना है। इस पार्क में एक पहाड़ी के ऊपर जटायु एक विशाल प्रतिमा बनी है।


कहा जा रहा है कि वह प्रतिमा ठीक उसी जगह स्थापित है, जहां त्रेतायुग में जटायु युद्ध में घायल होकर गिरे थे। “यहां बनी पक्षिराज जटायु की मूर्ति पूरी दुनिया में पक्षियों पर बनी सबसे बड़ी प्रतिमा है। यह मूर्ति 70 फीट ऊंची, 150 फीट चौड़ी और 200 फीट लंबी है। इस मूर्ति के अंदर एक म्यूजियम और एक 6डी थियेटर भी मौजूद है।”
यह तो सभी जानते ही हैं कि जटायु ने रावण से तब युद्ध किया था जब रावण सीता का अपहरण करके लंका ले जा रहा था। जटायु के भीतर अपार शक्ति थी, लेकिन महाशक्तिवान रावण ने उसके पंख काट डाले थे और घायल जटायु धरती पर आ गिरा था। जब जटायु की अंतिम सांसें चल रही थी तब किसी ने उससे कहा कि जटायु तुम्हें मालूम था कि तुम रावण से युद्ध कदापि नहीं जीत सकते तो तुमने उसे ललकारा क्यों?

तब जटायु ने जवाब दिया था, ‘मुझे पता था कि मैं रावण से युद्ध में नहीं जीत सकता पर अगर मैंने उस वक्त रावण से युद्ध नहीं किया होता तो भारतवर्ष की अनेक पीढ़ियां मुझे कायर कहतीं कि एक भारतीय आर्य नारी का अपहरण मेरी आंखों के सामने हो रहा है और मैं कायरों की भांति पड़ा रहूं इससे तो मौत ही अच्छी है। मैं अपने सिर पर कायरता का कलंक लेकर जीना नहीं चाहता था इसलिए मैंने रावण से युद्ध किया।”

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है