Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

जेबीटी में बीएड की सेंध पर फूटा गुस्सा, सड़कों पर उतरे प्रशिक्षु

जेबीटी में बीएड की सेंध पर फूटा गुस्सा, सड़कों पर उतरे प्रशिक्षु

- Advertisement -

टीम। बीएड धारकों को जेबीटी कमीशन भर्ती (JBT Commission Recruitment) के लिए मान्यता देने के फैसले को लेकर जेबीटी प्रशिक्षुओं (JBT trainees) का गुस्सा फूट पड़ा है। मंगलवार को प्रदेश में सैकड़ों जेबीटी प्रशिक्षु सड़कों पर उतर आए। इस दौरान उन्होंने रैलियां निकाली और जमकर प्रदर्शन कर अपना गुब्बार निकाला। प्रशिक्षुओं का कहना है कि बीएड डिग्री होल्डर को जेबीटी भर्ती में राहत देने का निर्णय बिल्कुल गलत है। प्रशिक्षुओं ने सरकार (Government) को चेतावनी दी है कि अगर जल्द उनके पक्ष में फैसला नहीं हुआ तो आगामी शिक्षण सत्र का नया बैच नहीं बैठने देंगें और डाइट में कक्षाओं का विरोध किया जाएगा तथा सरकार को डिप्लोमा भी लौटा दिए जाएंगे। अपनी मांगों को लेकर जेबीटी प्रशिक्षुओं ने प्रदेश सरकार और सीएम जयराम ठाकुर को ज्ञापन भी भेजे।


जुखाला से गसौड़ चौक तक रोष रैली निकाल किया प्रदर्शन

बिलासपुर। जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान जुखाला में शिक्षण प्राप्त कर रहे प्रशिक्षुओं ने मंगलवार को डाइट जुखाला (Diet Jukhala) से गसौड़ चौक तक रोष रैली निकाल कर जमकर नारेबाजी (Protest)की। उन्होंने कहा कि डीईएलईडी/ जेबीटी टैट और टीजीटी टैट के विषयों में दिनरात का अंतर है। डीईएलईडी/ जेबीटी के प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षु को प्राथमिक स्कूलों में पढ़ाए जाने वाले पांच विषयों की शिक्षा प्रदान की जाती है। प्रशिक्षण के दौरान डीईएलईडी/ जेबीटी प्रशिक्षु की स्कूलों में टीचिंग प्रेक्टिस करवा कर उन्हें प्राथमिक स्कूलों में पढ़ाए जाने के लिए सक्षम किया जाता है। जबकि बीएड (Bed) प्रशिक्षण में केवल मात्र विशेष संकाय को पढ़ाने का ही प्रशिक्षण दिया जाता है। उन्होंने कहा कि बीएड धारकों के पास जेबीटी पद पर पढ़ाने का न तो कोई अनुभव है और न ही कोई शिक्षा। इसलिए  इन पदों पर केवल योग्यता धारकों को ही आवेदन करने की अनुमति दी जाए, जोकि मात्र जेबीटी/डीईएलईडी धारक ही हैं।

यह भी पढ़ें:  ब्रेकिंगः क्लर्क टाइपिंग टेस्ट का रिजल्ट आउट, 71 अभ्यर्थी रहे सफल


नाहन में सीएम को भेजा ज्ञापन

नाहन। बीएड धारकों को जेबीटी कमीशन भर्ती के लिए मान्यता देने के फैसले का नाहन में भी जमकर विरोध हुआ। जेबीटी प्रशिक्षुओं ने एडीसी ऑफिस (Adc office) के बाहर धरना देते हुए जमकर नारेबाजी की। जेबीटी प्रशिक्षुओं ने एडीसी के माध्यम से सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) को ज्ञापन भेज बीएड धारकों को जेबीटी भर्ती में मान्यता न देने की मांग की। जेबीटी प्रशिक्षुओं ने यह भी ऐलान किया कि यदि सरकार ने उनकी मांग नहीं मानी तो वह सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने को मजबूर होंगे। प्रशिक्षुओं ने कहा कि जेबीटी प्रशिक्षु इस बात का विरोध कर रहे हैं कि बीएड करने वाले जेबीटी टेट क्वालिफाइड नहीं हैं, ऐसे में उन्हें जेबीटी कमीशन में शामिल नहीं किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: सोलनः बैंक से धोखाधड़ी, तीन करोड़ जमा करवाए बिना कंपनी बंद कर फरार

जिला मुख्यालय में गरजे जेबीटी, डीएलएड प्रशिक्षित बेरोजगार

कुल्लू। जिला मुख्यालय में सैंकड़ों जेबीटी, डीएलएड प्रशिक्षित बेरोजगारों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन और नारेबाजी की। इस दौरान प्रशिक्षित बेरोजगारों ने एडीएम कुल्लू अक्षय सूद के माध्यम से सीएम जयराम ठाकुर को ज्ञापन भेजा जिसमें प्रशिक्षित जेबीटी, डीएलएड बेरोजगारों ने प्रदेश सरकार से मांग की कि जेबीटी कमीशन में बीएड प्रशिक्षितों को बाहर किया जाए। उनका कहना है कि प्रदेश सरकार ने एक तरफ जहां 4 सालों के बाद कमीशन निकाला उसमें बीएड को जेबीटी कमीशन की हाईकोर्ट (High court) ने पात्रता दे दी। जिस कारण प्रदेश के हजारों जेबीटी प्रशिक्षित बेरोजगार नौकरी से वंचित रह जाएंगे।

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार की कैबिनेट बैठक तय, दो चेहरे नहीं होंगे अंदर, ये है कारण

सोलन में सचिवालय जाकर भूख हड़ताल की चेतावनी

सोलन। डाइट कॉलेज सोलन में जेबीटी प्रशिक्षण ले रहे प्रशिक्षुओं ने मंगलवार को सरकार और शिक्षा विभाग के खिलाफ अपना गुस्सा निकाला। अपनी मांगों को लेकर प्रचंड गर्मी में छात्रों ने रोष रैली निकाली। वहीं अपनी मांगों के प्रति जेबीटी प्रशिक्षुओं ने डीसी सोलन के माध्यम से प्रदेश सरकार को ज्ञापन (Memorandum) भेजा। प्रशिक्षु बेरोजगार संघ के सोलन जिला कमेटी के सेक्रेटरी सुमेश ने कहा कि न्यायालय का यह फैसला सरासर गलत है। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वह सचिवालय जाकर भूख हड़ताल करेंगे।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है