×

एचआरटीसी चालकों को बसें खाली ले जाना मंजूर, सवारी बिठाने से परहेज

एचआरटीसी चालकों को बसें खाली ले जाना मंजूर, सवारी बिठाने से परहेज

- Advertisement -

बिलासपुर। एचआरटीसी के चालक (HRTC Driver) भी कभी-कभी कमाल कर देते हैं। बसें खाली ले जाना उन्हें मंजूर पर सवारी बिठाने से परहेज। सैंज प्रोजेक्ट कुल्लू (Sainj Project Kullu) में जेई के पद पर कार्यरत अनूप सिंह पुत्र रत्तन सिंह गांव चेली के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। हुआ यूं कि वह आज सुबह करीब पांच बजे घर से कुल्लू जाने के लिए निकले। कल्लर (बिलासपुर कोठीपुरा से चंडीगढ़ की तरफ अगला स्टेशन) में बस (Bus) का इंतजार करने लग पड़े। इस दौरान तीन बसें गुजरीं पर एक भी बस नहीं रोकी गई।


यह भी पढ़ें: एचआरटीसी पेंशनर तल्ख-आत्मदाह तक की दे डाली धमकी, सड़क पर होगा प्रदर्शन

अनूप सिंह को मजबूरन प्राइवेट गाड़ी (Private car) कर बिलासपुर बस अड्डे जाना पड़ा। जेई अनूप सिंह ने बताया कि दो बसें बिलासपुर डिपो (Bilaspur Depot) की  (दिल्ली-मरोतन और दिल्ली-सिद्धपुर)  व एक बस मंडी डिपो (Mandi Depot) की (दिल्ली-मंडी) वहां से गुजरी। खाली होने के बावजूद भी चालक ने बस नहीं रोकी। फिर वह प्राइवेट गाड़ी से बिलासपुर बस स्टैंड पहुंचे। वहां पर दो बसें तो निकल चुकी थीं, एक बस लगभग 1 घंटा वहां रुकी रही।  सुबह 7: 03 पर चली। एक और बस जो बस स्टैंड ही नहीं आई है, वह घागस में मिली, उसका डीजल खत्म हो गया था।

यह भी पढ़ें: नशे में धुत शराबी ने जमकर मचाया हुड़दंग, बस रोककर लगा झूमने-देखें वीडियो

उन्होंने कहा कि मंडी बस स्टैंड (Mandi Bus Stand) पर कंप्लेंट बुक देने से भी इंकार किया गया और कहा कि ऑनलाइन कंप्लेंट (Online complaint) करो। उन्होंने आरएम मंडी से भी शिकायत की है। आरएम से कार्रवाई का आश्वासन मिला है। अनूप सिंह ने मांग की है कि प्रबंधन कम से कम इतना तो पता लगाए कि इन बसों के ड्राइवर की कौन सी मजबूरी थी, जो ये बस रोकने में असमर्थ थे।

यह भी पढ़ें:  ऊना : ट्रैक्टर-बाइक की टक्कर में एक की मौत, एक पीजीआई रेफर

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है