Covid-19 Update

2,18,693
मामले (हिमाचल)
2,13,338
मरीज ठीक हुए
3,656
मौत
33,697,581
मामले (भारत)
233,301,085
मामले (दुनिया)

आदिवासी कभी ना हिंदू थे ना हैं-कुछ ऐसा ही बोल गए झारखंड के CM सोरेन

बोले, जनगणना में आदिवासियों के लिए कोई जगह नहीं

आदिवासी कभी ना  हिंदू थे ना हैं-कुछ ऐसा ही बोल गए झारखंड के CM सोरेन

- Advertisement -

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन (Jharkhand CM Hemant Soren)ने विवादित टिप्पणी करते हुए कहा है कि आदिवासी हिंदू (Hindus)नहीं हैं। उन्होंने कहा कि आदिवासी कभी ना हिंदू थे, ना हैं। आदिवासी समाज प्रकृति पूजक है और इनका अलग रीति-रिवाज है। सदियों से आदिवासी (Tribals) समाज को दबाया जाता रहा है, कभी इंडिजिनस, कभी ट्राइबल तो कभी अन्य के तहत पहचान होती रही। सोरेन का कहना है कि इस बार की जनगणना में आदिवासी समाज के लिए अन्य का भी प्रावधान हटा दिया गया है। सोरेन ने ये बात शनिवार देर रात हार्वर्ड इंडिया कॉन्फ्रेंस को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए कही।

यह भी पढ़ें: एक पड़ोसी देश में 50 रुपए से भी नीचे है पेट्रोल, जानें Neighboring Countries के हाल

झारखंड के सीएम का कहना है कि जनगणना में आदिवासियों के लिए कोई जगह नहीं है। पांच-छह धर्मों (Five-Six Religions)को लेकर ये बताने की कोशिश की गई है कि उन्हें इन्हीं में से एक को चुनना होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने केंद्र से आग्रह किया है कि आगामी जनगणना में आदिवासी समूह के लिए अलग कॉलम होना चाहिए,जिससे वह अपनी परंपरा और संस्कृति (Culture)को संरक्षित कर आगे बढ़ सकें।

यह भी पढ़ें: #Congress नेता बोले- अच्छा होता धर्मशाला में बढ़ती महंगाई पर भी मंथन कर लेती BJP

सोरेन ने बीजेपी की विचारधारा (BJP’s ideology) पर कटाक्ष करते हुए कहा कि 89 वर्ष के एक सामाजिक कार्यकर्ता फादर स्टेन सवामी को जेल में बंद रखा गया है। जिस व्यक्ति की याद्दाश्त चली गई, ठीक से बोल नहीं पाता उसे देशद्रोह के मामले में जेल में रखा गया है। सोरेन ने कहा कि आदिवासी हितों की सुरक्षा के लिए आदिवासी मंत्रालय का निर्माण हुआ। संविधान में पांचवीं और छठीं अनुसूचि भी आदिवासी हित के लिए बनाई गई है। आदिवासी समाज एक ऐसा समाज है, जिसकी सभ्यता,संस्कृति व्यवस्था बिल्कुल अलग है। आदिवासियों को लेकर जनगणना में अपनी जगह स्थापित करने की मांग वर्षों से रखी जा रही है। इस संबंध में भेजे गए प्रस्ताव पर (Government of India) भारत सरकार सहानुभूति पूर्वक विचार करे।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है