Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

दूसरी दूरसंचार कंपनियां ग्राहकों से वसूल रहीं ‘छिपा हुआ शुल्क’: आईयूसी पर जियो

दूसरी दूरसंचार कंपनियां ग्राहकों से वसूल रहीं ‘छिपा हुआ शुल्क’: आईयूसी पर जियो

- Advertisement -

 

नई दिल्ली। रिलायंस जियो ने ग्राहकों से 6 पैसा/मिनट आईयूसी वसूलने पर कहा है कि दूसरी दूरसंचार कंपनियां ग्राहकों से ‘छिपा हुआ शुल्क’ वसूल रही हैं। जियो के प्रेसीडेंट मैथ्यू ओमन ने कहा, ‘अन्य कंपनियां नेटवर्क पर बनाए रखने के लिए 23-33 रुपए शुल्क लेती हैं, हम ग्राहकों से असीमित प्लान के नाम पर शुल्क नहीं लेते, यह पारदर्शिता व ‘छिपे शुल्कों’ में अंतर है।’ गौरतलब है कि भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) के नियमानुसार अभी दूरसंचार कंपनियों को अपने नेटवर्क से बाहर जाने वाली कॉल के दूसरे नेटवर्क पर जुड़ने के लिए एक शुल्क देना होता है। इसे ही आईयूसी कहते हैं। वर्तमान में इसकी दर 6 पैसे प्रति मिनट है।


 

यह भी पढ़ें: वीडियो: शख्स की गर्दन से लिपटा 10 फीट लंबा अजगर, सहकर्मियों ने बचाया

 

जियो के अध्यक्ष मैथ्यू ओमन ने इस मसले पर कंपनी का बचाव करते हुए कहा कि दूरसंचार कंपनियों को भविष्य में 5जी के लिए इंटरनेट प्रोटोकॉल पर आधारित पूरा नया ढांचा बनाने की जरूरत होगी और उन्हें 2जी जैसी पुरानी प्रौद्योगिकी में निवेश नहीं करना होगा। आईयूसी शुल्क वसूलने के निर्णय पर ओमन ने कहा कि हम चाहें तो उद्योग से जुड़ी अन्य कंपनियों की तरह असीमित प्लान दे सकते थे। किसी को कभी पता भी नहीं चलता लेकिन हमने ऐसा नहीं करने का चुनाव किया, क्योंकि हम वसूले जाने वाले हर पैसे को लेकर पारदर्शिता चाहते थे। यह चुनाव हमने किया। छह पैसे के शुल्क को आईयूसी के रूप में पहचान देने के स्थान पर हम भी अन्य कंपनियों की तरह ग्राहक को 20 से 100 रुपये के बीच की सेवा कम स्पेक्ट्रम की उपलब्ध कराकर इसे वसूल सकते थे। अन्य किसी भी नेटवर्क पर वायस कॉल के लिए न्यूनतम एक से डेढ़ रुपये का शुल्क लिया जाता है।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है