Covid-19 Update

2,16,813
मामले (हिमाचल)
2,11,554
मरीज ठीक हुए
3,633
मौत
33,437,535
मामले (भारत)
228,638,789
मामले (दुनिया)

J&K: उमर अब्दुल्ला ने बढ़ाया घाटी का सियासी पारा; कार्यकर्ताओं संग Conference कर सक्रीय होने को कहा

J&K: उमर अब्दुल्ला ने बढ़ाया घाटी का सियासी पारा; कार्यकर्ताओं संग Conference कर सक्रीय होने को कहा

- Advertisement -

श्रीनगर। देश के केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) से धारा 370 हटाए जाने के बाद से बनी हुई राजनीतिक शांति को नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष और पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) ने कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान वर्चुअल राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस कर भंग कर दिया है। उमर की इस कॉन्फ्रेंस ने सूबे के सियासी तामपान को एक बाद फिर बढ़ा दिया है। उमर अब्दुल्ला ने पार्टी कार्यकर्ताओं से सक्रीय होने का आह्वाहन करते हुए कोरोना वायरस के चलते संकट में पड़े लोगों तक पहुंचने को कहा है। उमर ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कोरोना वायरस से लड़ने में लोगों की मदद करने का आह्वान किया और साथ ही उन्हें सभी आवश्यक प्रोटोकॉल का पालन करने की भी हिदायत दी।

यह राजनीति करने का नहीं, लोगों की समस्याओं को मिलजुलकर दूर करने का है

इस वर्चुअल राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस (Virtual round table conference) के दौरान उमर ने कोई विवादास्पद बयान नहीं दिया है, लेकिन पार्टी सदस्यों को पूरी तरह से सक्रिय होने के लिए कहा है। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पार्टी नेताओं से संवाद करते हुए उमर ने कहा कि वर्तमान समय राजनीति करने का नहीं है। समय लोगों की समस्याओं तथा दुश्वारियों को मिलजुलकर दूर करने का है। उन्होंने आगे कहा कि राजनीतिक पार्टियां केवल वोट लेने के लिए नहीं हैं, बल्कि मुश्किल हालात में उनकी दिक्कतों को दूर करने की भी उन पर जिम्मेदारी है।

यह भी पढ़ें: Punjab: आज से दिन का Curfew हटा; हेयर कटिंग सैलून, कैब, बसों समेत ये गतिविधियां हुईं शुरू

पार्टी के कार्यकर्ता घर लौट रहे फंसे हुए लोगों की हरसंभव मदद करें

उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ता खासकर हाईवे के किनारे रहने वाले पार्टी के कार्यकर्ता घर लौट रहे फंसे हुए लोगों की हरसंभव मदद करें। क्योंकि कोरोना किसी धर्म, आर्थिक व सामाजिक बंधन को नहीं देखता है। उन्होंने कहा कि खतरनाक संक्रमण कोई धार्मिक, आर्थिक या सामाजिक बाधाओं को नहीं जानता है, क्योंकि इसने मानवता को समग्र रूप से प्रभावित किया है और इसलिए एकजुट और एकजुट प्रतिक्रिया ज़रूरी है। जम्मू प्रांत के नेकां प्रधान व पूर्व एमएलसी देंवेद्र राणा ने उमर अब्दुल्ला के साथ हुई बैठक का जिक्र करते हुए कहा कि नेशनल कांफ्रेंस शुरु से ही जनता के प्रति समर्पण की भावना से काम करती आयी है। हमारे सभी नेता और कैडर कोविड-19 से पैदा हालात में आम लोगों तक हर संभव मदद पहुंचाने का प्रयास किया है। हमारे किसी भी नेता या कार्यकर्ता ने इस मामले पर कोई सियासत नहीं की है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है