Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

मृत्यु की भौतिक स्थिति महसूस करना चाहता था जेएनयू का छात्र, लगा लिया फंदा

मृत्यु की भौतिक स्थिति महसूस करना चाहता था जेएनयू का छात्र, लगा लिया फंदा

- Advertisement -

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के एक छात्र ने विवि के स्टडी रूम में छत के पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्र (Student) ने फंदे पर लटकने से पहले एक सुसाइड नोट अंग्रेजी के प्रोफेसर को मेल किया जो कि हैरान करने वाला है। एमए द्वितीय वर्ष के छात्र रिषि जोशुआ ने प्रोफेसर (Professor) को भेजे ई-मेल में लिखा, ‘कुछ समय से मैं मृत्यु की भौतिक स्थिति को महसूस करना चाह रहा हूं। जब तक आप यह ई-मेल पढ़ेंगे, मैं भौतिक अवस्था में नहीं रहूंगा।

यह भी पढ़ें :-गृह क्लेश से परेशान महिला ने तीनों बच्चों के साथ खुद को लगाई आग

मेरे परिजनों का ध्यान रखना।’ पुलिस को घटना के बारे में माही मांडवी छात्रावास के वार्डन ने सूचित किया। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण पश्चिम) देवेंद्र आर्य ने बताया कि फोन कॉल करने वाले माही मांडवी छात्रावास के प्रभारी (hostel In-charge) से संपर्क करने के बाद पुलिस विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ लैंग्वेजेज पहुंची।


पुलिस ने देखा कि पुस्तकालय कक्ष के बेसमेंट में स्टडी रूम (Study room) भीतर से बंद था और दरवाजा खटखटाने पर कोई जवाब नहीं मिला। उन्होंने खिड़की से देखा कि छत के पंखे से एक शव लटका हुआ है। दरवाजा खोला गया और केबल काटकर शव को नीचे उतारा गया। शव को सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया है। मृतक छात्र के रिश्तेदारों को सूचित कर दिया गया है और जोशुआ के रिश्तेदार मैथ्यू वर्गीज विश्वविद्यालय पहुंच गए हैं। पुलिस (police) को संदेह है कि छात्र कुछ समय से अवसाद में था। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि इसका कारण कोई प्रेम संबंध था या कुछ और।

 

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है