Covid-19 Update

59,014
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,190,651
मामले (भारत)
116,428,617
मामले (दुनिया)

इतिहासकार रोमिला थापर से सीवी मांगने पर बवाल, जेएनयूटीए ने बताया राजनीतिक कदम

इतिहासकार रोमिला थापर से सीवी मांगने पर बवाल, जेएनयूटीए ने बताया राजनीतिक कदम

- Advertisement -

नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) प्रशासन की ओर से इतिहासकार रोमिला थापर को भेजे गए पत्र से कैंपस का माहौल गर्माया हुआ है। मामले पर जवाहरलाल नेहरू शिक्षक संघ (JNTUA) ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन का रोमिला थापर (Romila thapar) से सीवी मांगने का फैसला राजनीतिक रूप से प्रेरित है। रोमिला थापर से सीवी मांगना जानबूझकर उन लोगों को बेइज्जत करने का प्रयास है जो वर्तमान प्रशासन के आलोचक हैं। जेएनयूटीए ने इस मुद्दे को लेकर थापर के लिए व्यक्तिगत माफी जारी करने की भी मांग उठाई, साथ ही कहा कि प्रोफेसर थापर का अपमान राजनीतिक रूप से प्रेरित एक और कदम है।

यह भी पढ़ें :-सुशील मोदी का अजब बयान, सावन- भादों में रहती है मंदी, विपक्ष बेवजह मचा रहा शोर

गौर हो कि इतिहासकार और पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित रोमिला थापर से जेएनयू प्रशासन (JNU Administration) ने सीवी जमा करने को कहा है ताकि यह विचार किया जा सके कि जेएनयू में उनकी सेवाएं एमेरिटा प्रोफेसर के रूप में जारी की जाएं या नहीं। विश्वविद्यालय का कहना है कि वह जेएनयू में प्रोफेसर एमेरिटस के पद पर नियुक्ति के लिए अपने अध्यादेश का पालन कर रहा है। अध्यादेश के मुताबिक, विश्वविद्यालय के लिए यह जरूरी है कि वह उन सभी को पत्र लिखे जो 75 साल की उम्र पार कर चुके हैं ताकि उनकी उपलब्धता और विश्वविद्यालय के साथ उनके संबंध को जारी रखने की उनकी इच्छा का पता चल सके। पत्र सिर्फ उन प्रोफेसर एमेरिटस को लिखे गए हैं जो इस श्रेणी में आते हैं। विश्वविद्यालय ने कहा है कि पत्र उनकी सेवा को खत्म करने के लिए नहीं जारी किया गया है।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है